रिक्शा चालक ने बढ़ाया असम का मान, मोदी भी हुए मुरीद, मुख्यमंत्री ने दिया बड़ा तोहफा

Daily news network Posted: 2018-04-04 14:38:02 IST Updated: 2018-04-05 11:56:03 IST
रिक्शा चालक ने बढ़ाया असम का मान, मोदी भी हुए मुरीद, मुख्यमंत्री ने दिया बड़ा तोहफा
  • मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने राज्य के एक विशेष रिक्शा चालक को सम्मानित किया

गुवाहाटी।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने राज्य के एक विशेष रिक्शा चालक को सम्मानित किया, जिन्होंने रिक्शा चलाते हुए अपने इलाके में नौ स्कूलों की स्थापना कर शिक्षा के क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। मालूम हो कि बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में बराकघाटी के रिक्शा चालक अहमद अली का नाम लेते हुए उनकी तारीफ की थी।





 यहां विधानसभा सचिवालय स्थित सेंट्रल हॉल में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सोनोवाल ने पथारकांदी के मधुरचंद निवासी रिक्शा चालक अहमद अली को सम्मानित करते हुए उन्हें असम का गर्व करार दिया। अली द्वारा स्थापित इस नौ स्कूलों को मुख्यमंत्री ने विशेष पैकेज देने का आश्वासन दिया है। मालूम हो कि पेश से रिक्शा चालक अहमद अली ने अपने इलाके के बच्चों की शिक्षा के लिए 1978 से अब तक नौ स्कूलों की स्थापना की है। इन स्कूलों में दो एलपी, पांच एमर्ई और दो हाई स्कूल शामिल हैं। वहीं दो हाई स्कूलों की स्थापना में पथारकंदी के स्थानीय विधायक कृष्णेंदु पाल ने भी मदद दी थी। 

 




बता दें कि रिक्शा चालक अहमद अली ने 1978 में सबसे पहले अपने गांव में खुद की एक जमीन बेचकर और गांव वालों से कुछ  पैसे जुटा करके एक छोटे से प्राथमिक विद्यालय स्थापना की थी। अली का लक्ष्य 10 शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना करना है, जिसमें से वे नौ विद्यालय को स्थापित कर चुके हैं, अब बस वो इस क्षेत्र में एक कॉलेज की शुरूआत करना चाहते हैं।

 

 


परिवार में अली की दो पत्नियां और सात बच्चे हैं। अली का मानना है कि हर पेशे की अपनी गरिमा होती है और उन्हें खुद पर गर्व है कि वो एक रिक्शा चलाने वाले के नाम से जाने जाते हैं। अली ने कहा कि अब वो बूढ़े हो रहे हैं लेकिन वो अपनी आखिरी सांस तक शिक्षा के माध्यम से अपने गांव को विकसित करना चाहते हैं। हैरानी की बात यह है कि उन्होंने किसी भी स्कूल को अपना नाम नहीं दिया, केवल उच्च विद्यालय का नाम उनके नाम पर है वह भी इसलिए क्योंकि ग्रामीणों ने उन्हें ऐसा करने पर जोर दिया अपने गांव और आस.पास के क्षेत्रों में शिक्षा के प्रकाश को फैलाने में उनके जीवन भर के प्रयासों के लिए अली को हाल ही में पार्थिकंडी के विधायक कृष्णुंदु पॉल ने बधाई दी थी।