नागालैंड में शहीद हुआ असम राइफल्स का जवान, नम आंखों ने दी विदार्इ

Daily news network Posted: 2019-01-05 12:34:11 IST Updated: 2019-01-05 12:34:11 IST
नागालैंड में शहीद हुआ असम राइफल्स का जवान, नम आंखों ने दी विदार्इ
  • असम राइफल्स के जवान गोपाल सिंह मेहरा नागालैंड में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए। वे मूल रूप से गंगोलीहाट जिला पिथौरागढ़ के निवासी थे।

असम राइफल्स के जवान गोपाल सिंह मेहरा नागालैंड में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हो गए। वे मूल रूप से गंगोलीहाट जिला पिथौरागढ़ के निवासी थे। शनिवार को गोपाल सिंह मेहरा पंचतत्व में विलीन हो गए हैं। सैकड़ों नम आंखों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। शहीद के पुत्र ने रामगंगा और सरयू के संगम स्थल रामेश्वर घाट में चिता को मुखाग्नि दी। पार्थिव शरीर के घर पहुंचते ही कोहराम मच गया। पत्नी पार्थिव देह देख बेहोश हुई तो वृद्ध मां की आंखें पथरा गई। भाई और परिजनों के आंखों से आंसू बहते रहे तो शहीद के अंतिम दर्शनों को पहुंची भारी भीड़ भी द्रवित हो गई।


आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुए शहीद

 गंगोलीहाट के दशाईथल जजौली निवासी गोपाल सिंह माहरा असम राइफल में तैनात थे। बुधवार की सुबह पूर्वोत्तर के नागालैंड में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में वह शहीद हो गए। दशाईथल इंटर कॉलेज से हाईस्कूल करने के बाद गोपाल सिंह 1987 में असम राइफल्स में भर्ती हो गए थे।

 

 

 

 

सैन्य पृष्ठभूमि वाले परिवार से है शहीद

 मूल रूप से गंगोलीहाट (पिथौरागढ़) में रहने वाले शहीद गोपाल सिंह माहरा सैन्य पृष्ठभूमि वाले परिवार से हैं। चार भाइयों में दूसरे नंबर के गोपाल सिंह के बड़े भाई निर्मल माहरा असम राइफल में सूबेदार के पद पर तैनात हैं। तीसरे नंबर के भाई ठाकुर सिंह सेना में पुंछ में तैनात हैं। सबसे छोटे भाई रिपुसूदन माहरा दशाईथल में दुकान चलाते हैं। गोपाल सिंह के पिताजी स्व.त्रिलोक सिंह भी असम राइफल्स में तैनात थे। सेना में उनकी बहादुरी के लिए वीरता पुरस्कार दिया गया था। पांच वर्ष पहले उनका निधन हो गया था।

 


 एक साल बाद गोपाल सिंह सेवानिवृत्त होने वाले थे

 गोपाल सिंह के बड़े भाई निर्मल सिंह भी असम राइफल्स (नागालैंड) में ही तैनात हैं। उन्होंने ही सुबह परिजनों को फोन कर गोपाल सिंह की शहादत कि सूचना दी। गोपाल सिंह का परिवार पांच साल पहले दिनेशपुर के उदयनगर गांव स्थित दुर्गा स्टेट कॉलोनी में आकर रहने लगा था। गोपाल सिंह के घर में उनकी पत्नी बसंती, 17 वर्षीय पुत्र सौरभ और 14 वर्षीय पुत्री हिमानी है। सौरभ दिनेशपुर में पॉलिटेक्निक कालेज का छात्र है, जबकि हिमानी सरस्वती शिशु मंदिर कालीनगर में कक्षा नौ में पढ़ती है। परिजनों ने बताया कि एक साल बाद गोपाल सिंह सेवानिवृत्त होने वाले थे।