देश से बाहर रह रहे लोगों पर असम पुलिस की कड़ी नजर

Daily news network Posted: 2018-04-13 19:13:13 IST Updated: 2018-04-13 19:13:13 IST
देश से बाहर रह रहे लोगों पर असम पुलिस की कड़ी नजर
  • देश से बाहर रह रहे लोगों पर असम पुलिस कड़ी नजर रख रही है। असम पुलिस ने विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षकों को विदेशों में काम कर रहे लोगों का डाटाबेस बनाने का निर्देश दिया है।

गुवाहाटी।

देश से बाहर रह रहे लोगों पर असम पुलिस कड़ी नजर रख रही है। असम पुलिस ने विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षकों को विदेशों में काम कर रहे लोगों का डाटाबेस बनाने का निर्देश दिया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि विभिन्न जिलों के पुलिस अधीक्षकों को विदेश गए लोगों पर नजर रखने को कहा गया है, खासतौर पर मध्यपूर्व गए लोगों पर। आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने असम निवासी कमर उज जमां के संगठन में शामिल होने का दावा किया था। यह दावा सोशल मीडिया के जरिए किया गया था। 

 

 

 

 

 

इसके बाद असम पुलिस ने जिलों के पुलिस अधीक्षकों को विदेश में रह रहे लोगों पर कड़ी नजर रखने को कहा है। असम पुलिस ने बांग्लादेश स्थित आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन (जेएमबी) के कुछ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जमात उल मुजाहिदीन ने असम में अपनी गतिविधियां शुरू कर दी थी। जेएमबी का मुख्य ऑपरेटिव और बर्दवान ब्लास्ट केस के मुख्य आरोपी सहानुर आलम को असम पुलिस की टीम ने 2014 में गिरफ्तार किया था। 

 

 

 

 

कमर उज जमां होजई जिले के जमुनामुख का रहने वाला है।  जुलाई 2017 में वह अचानक गायब हो गया था। तब से उसका अपने परिवार से संपर्क नहीं है। कश्मीर में कमर उज जमां की एक तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें उसके हाथ में एके-47 राइफल नजर आ रही है। तस्वीर पर कैप्शन में लिखा था, हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ नया सदस्य। 

 

 

 

 

 

हालांकि कमर के हिजबुल में शामिल होने की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है। कमर जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में कपड़े का व्यापार करता था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर एक समाचार पत्र को बताया कि हम इस बात का पता लगा रहे हैं कि 2008 से 2012 तक जब कमर अमरीका में था, तब तो वह रेडिकलाइज नहीं हुआ था। 

 

 

 

 

 

जम्मू कश्मीर पुलिस ने कमर के हिजबुल में शामिल होने की पुष्टि नहीं की है। जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक ए.पी.वैद ने कहा है कि इस बात का कोई ठोस सबूत नहीं है कि लापता हुआ कमर उज जमां आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया है। वैद ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर की हमनें जांच शुरू कर दी है। मुद्दा यह है कि तस्वीर के साछ