अब लड़कियों को साइबर ब्लैकमेल करना हुआ मुश्किल, जानिए कैसे

Daily news network Posted: 2019-05-15 12:53:36 IST Updated: 2019-05-15 12:53:36 IST
अब लड़कियों को साइबर ब्लैकमेल करना हुआ मुश्किल, जानिए कैसे
  • असम पुलिस के अपराध अनुसंधान विभाग(सीआईडी) के सौजन्य से मंगलवार को महानगर के तारिणी चौधरी सरकार उच्चतर माध्यमिक बहुमुखी बालिका विद्यालय की छात्राओं के बीच एक जागरूकता सभा का आयोजन किया गया....

गुवाहाटी

असम पुलिस के अपराध अनुसंधान विभाग(सीआईडी) के सौजन्य से मंगलवार को महानगर के तारिणी चौधरी सरकार उच्चतर माध्यमिक बहुमुखी बालिका विद्यालय की छात्राओं के बीच एक जागरूकता सभा का आयोजन किया गया। इस सभा में मानव तस्करी, नशीले पदार्थों के सेवन और साइबर अपराध से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर छात्राओं के साथ विचार-विमर्श किया गया।

 


 

 जागरूकता सभा के प्रारंभ में अपराध अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डा. एलआर विश्नोई ने मानव तस्करी, नशीले पदार्थों के सेवन और साइबर अपराध को वर्तमान समाज की एक गंभीर बीमारी बताया और कहा कि नई पीढी़ को इन सब को लेकर सदैव जागरूक रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्ग के सहयोग से ही समाज को ऐसी गंभीर बीमारी से छुटकारा दिलाया जा सकता है।

 


 

 उन्होंने इस बात पर विस्तार से प्रकाश डाला कि नशे के आदी लोग किस तरह से स्वयं को बर्बादी के गर्त में ले जाते हैं। उन्होंने मानव तस्करी, नशीले पदार्थों के सेवन और साइबर अपराध अनुसंधान विभाग द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों के बारे में भी विस्तार से बताया।

 

 


 उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों के बीच इस प्रकार के जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन कर उन्हें इसकी भयावहता के बारे में बताया-समझाया जाएगा। विद्यालय के अध्यक्ष चित्तरंजन कलिता के साथ अन्य शिक्षकों ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की।