फिलिपींस में हुआ कमर जमां का ब्रेन वॉश, वहीं बना था कट्टरपंथी

Daily news network Posted: 2018-04-13 13:15:06 IST Updated: 2018-04-13 15:18:49 IST
फिलिपींस में हुआ कमर जमां का ब्रेन वॉश, वहीं बना था कट्टरपंथी
  • पिछले साल जुलाई में जम्मू कश्मीर से गायब हुए असम निवासी कमर उज जमां के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने की खबर है।

गुवाहाटी।

पिछले साल जुलाई में जम्मू कश्मीर से गायब हुए असम निवासी कमर उज जमां के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने की खबर है। हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। असम पुलिस के मुताबिक कमर उज जमां का ब्रैन वॉश फिलिपींस में हुआ। वहीं पर उसे रेडिकलाइज किया गया। एक अंग्रेजी समाचार पत्र ने असम के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (स्पेशल ब्रांच) पल्लब भट्टाचार्य के हवाले से यह खबर दी है।


 

बकौल पल्लब भट्टाचार्य,हम सबूतों पर खड़े हैं,जिससे यह पता चलता है कि कमर उज जमां फिलिपींस में कट्टरपंथी बना। कमर जब गायब हो गया तब रेडिकलाइजेशन हुआ। हम अभी भी जम्मू कश्मीर पुलिस से पुष्टि का इंतजार कर रहे हैं कि कमर आतंकी संगठन से जुड़ा है या नहीं। कमर उज जमां असम के होजई जिले के जमुनामुख का रहने वाला है। वह जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में कपड़े का व्यापार करता था। हाल ही में सोशल मीडिया पर कमर की तस्वीर वायरल हुई थी, जिस पर लिखे कैप्शन से यह लगता है कि वह अब हिजबुल मुजाहिदीन का सदस्य है।

 



कैप्शन में लिखा है, संगठन: हिजबुल मुजाहिदीन, नाम: कमर उज जमां, पुत्र: इब्राहिम जमां, निवासी: असम(भारत), कोड: डॉ हुरईराह , योग्यता: एम.ए. इंग्लिश। तस्वीर में अपने बेटे को पहचान हुए कमर की मां ने कहा,गद्दार होने के कारण सरकार को उसे गोली मार देनी चाहिए। हां, कमर मेरा बेटा है। अगर वह आतंकी संगठन में शामिल हो गया है तो सरकार को उसे गोली मार देनी चाहिए क्योंकि वह देश का दुश्मन है। 




उसका शव जानवरों के आगे फेंक देना चाहिए, ताकि उनका पेट भर सके। मुझे ऐसे बेटे की कोई जरूरत नहीं है। इस तरह के व्यक्ति को जिंदा नहीं रहने चाहिए। कमर अंग्रेजी में एम.ए. है। उसने 2008 से 2012 तक अमरीका में काम किया। परिवार के सदस्यों का उससे जुलाई 2017 से कोई संपर्क नहीं है। 10 महीने पहले वह अपनी पत्नी और तीन साल के बेटे को छोडऩे के लिए जमुनामुख आया था। जमुनामुख में वह मकान बनवा रहा था। यह जानकारी उसके भाई मुफिदुल ने दी। बकौल मुफिदुल, अब मैं उसे अपना भाई नहीं मानता। वह गद्दार है इसलिए उसे मार देना चाहिए। हम उसका शव अपने घर के अंदर लाने की अनुमति नहीं देंगे। उसने कहा कि कमर सिर्फ 10 वीं क्लास तक ही पढ़ा है, उसने एम.ए. नहीं किया है जैसा सोशल मीडिया में वायरल हुई तस्वीर में दावा किया गया है।