इस राज्य में बन रहा सबसे बड़ा विदेशी बंदीगृह, एकसाथ रहेंगे 3000 लोग, इतने करोड़ होंगे खर्च

Daily news network Posted: 2019-09-06 15:31:05 IST Updated: 2019-09-09 16:18:53 IST
  • असम में सरकार 45 करोड़ रूपए खर्च कर सबसे बड़ाबंदी गृह बनवा रही है जिसमें एकसाथ 3000 घुसपैठियों को रखा जाएगा।

गुवाहाटी

असम में सरकार सबसे बड़ा बंदीगृह बनवा रही है जिसमें एकसाथ 3000 विदेशी घुसपैठियों को रखा जाएगा। यह सबसे बड़ा बंदीगृह राज्य के गोलपाड़ा जिले के मातिया पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले दालगोमा में बनवाया जा रहा है जिसका निर्माण कार्य चल रहा है। इस बंदीगृह में उन लोगों को रखा जाएगा जिनको फोरेनर्स ट्रिब्यूनल्स द्वारा विदेशी घोषित किया जाएगा। खबर है कि इस बंदीगृह को बनवाने में 45 करोड़ रूपए का खर्च आने वाला है। इसका निर्माण पिछले साल दिसंब में शुरू हुआ था।

 


आपको बता दें कि असम में अभी 6 बंदीगृह केंद्र हैं जो राज्य के जिलों की जेलों में खोले गए हैं। बताया गया है कि इस नए बंदीगृह में 4 मंजिल के 15 भवन होंगे। इनके प्रत्येक भाग में 200 कैदियों को रखा जा सकेगा। इस बंदीगृह का निर्माण द्रुतग​ति से चल रहा है। इसमें महिलाओं तथा पुरूषों के लिए अलग-अलग क्वार्टर होंगे। इसका निर्माण इसी साल दिसंबर तक पूरा होने का अनुमान है।

 


बताया गया है कि इसके अलावा असम में 11 और बंदीगृहों का निर्माण किया जाएगा जिसके लिए कें​द्र सरकार से मंजूरी मिल चुकी है। ये सभी बंदीगृह राज्य के शिवसागर, बरपेटा, दिमा हसाओ, नलबाड़ी, नगांव, करीमगंज, लखीमपुर, कामरूप तथा सोनिपुर में बनाए जाएंगे। इन सभी डिटेंशन सेंटरों में अस्पताल, डाइनिंग रूम, किचन तथा कैदियों के लिए स्कूल भी होंगे। अभी तक फोरेनर्स ट्रिब्यूनल्स द्वारा 1 लाख लोगों को विदेशी घोषित कर चुका है जिनमें से 900 को 6 डिटेंशन कैंपों में रखा जा रहा है।