कामाख्या देवी मंदिर के पट खुले, प्रसाद में मिलता है खून से सना कपड़ा

Daily news network Posted: 2019-06-26 09:48:50 IST Updated: 2019-06-26 09:48:50 IST
कामाख्या देवी मंदिर के पट खुले, प्रसाद में मिलता है खून से सना कपड़ा
  • असम के गुवाहाटी स्थित कामाख्या देवी मंदिर के पट खुल गए हैं तथा श्रृद्धालु दर्शन कर रहे हैं।

गुवाहाटी

असम के गुवाहाटी स्थित विश्वप्रसिद्ध कामाख्या देवी मंदिर के पट 3 दिन तक बंद रहने के बाद आज खुल गए हैं। इसी के साथ यहां पर लगने वाले विश्वप्रसिद्ध अंबुवाची मेले का समापन भी शुरू हो गया है। कामाख्या देवी धाम 51 शक्तिपीठों में से एक है। मान्यता है कि लगातार तीन दिन तक देवी रजस्वला रहने के कारण मंदिर के पट बंद रखे जाते हैं। उसके बाद भक्तों को प्रसाद के रूप में रजोवृति से भीगा पकड़ा प्रसाद के रूप में दिया जाता है।

 

ऐसी है मान्यता

माना जाता है कि भगवान विष्णु के सुदर्शन चक्र से देवी शक्ति के अंग कटे थे। इनमें से उनका योनी भाग यहां पर गिरा था। तब से यहां पर कामाख्या देवी मंदिर स्थापित है तथा हर वर्ष अंबुवासी मेले का आयोजन किया जाता है। यह मेला उत्तरपूर्वी राज्यों का कुंभ भी कहा जाता है जिसमें लाखों की संख्या में लोग पहुंचते हैं।

 

501 रूपए में ​विशेष दर्शन

कामाख्या देवी मंदिर में दर्शन के लिए कई तरह के इंतजाम किए गए हैं। आम के अलावा खास लोगों के लिए भी यहां अलग से व्यवस्था की गई। 501 रूपए के टिकट पर लोग विशेष लाइन में लगकर दर्शन कर सकते हैं। साथ स्पेशल लाइन में कूलिंग का भी व्यवस्था की गई है। सुबह से ही मंदिर में दर्शन करने वालों की भीड़ उमड़ रही है।