भाजपा को अब याद आई असम में पांचवी क्लास की छात्रा से गैंगरेप की वारदात

Daily news network Posted: 2018-04-13 16:07:24 IST Updated: 2018-04-13 16:08:55 IST
भाजपा को अब याद आई असम में पांचवी क्लास की छात्रा से गैंगरेप की वारदात
  • 23 मार्च को असम में पांचवी क्लास में पढऩे वाली छात्रा की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी। बलात्कारियों ने मिट्टी का तेल डालकर छात्रा को जिंदा जला दिया था। घटना नगांव जिले की थी।

गुवाहाटी/नई दिल्ली।

23 मार्च को असम में पांचवी क्लास में पढऩे वाली छात्रा की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी। बलात्कारियों ने मिट्टी का तेल डालकर छात्रा को जिंदा जला दिया था। घटना नगांव जिले की थी। इस हत्याकांड को लेकर असम में खूब बवाल मचा। विधानसभा में भी मामला उठा। इसके बाद मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने नाबालिगों के साथ बलात्कार करने वालों को कड़ी सजा देने के लिए नया कानून बनाएंगे।




गैंगरेप व हत्याकांड का मुख्य आरोपी जाकिर हुसैन है। इस जघन्य कांड की भाजपा को अब याद आई जब कठुआ में 8 साल की बच्ची व उन्नाव में युवती से गैंगरेप के मामले में वह फंस गई। भाजपा ने मीडिया पर दोनों घटनाओं की बेजा रिपोर्टिंग का आरोप लगाया। यही नहीं भाजपा ने असम में बच्ची से रेप का मामला उठा दोनों मामलों से इसकी तुलना कर दी। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने प्रेस कांफ्रेंस कर पार्टी का पक्ष रखा। लेखी ने कहा कि उन्नाव वाला केस 10 महीने पुराना है, कठुआ का केस जनवरी का है लेकिन अप्रेल में असम में भी एक केस सामने आया।



 


पांचवी क्लास में पढऩे वाली 12 साल की छात्रा से रेप हुआ था, उसे केरोसीन डालकर जलाया गया। इस घटना में शामिल शख्स 21 साल का जाकिर हुसैन था। कुछ लोग इस विषय पर चुप हैं जबकि बाकी विषयों को उछाल रहे हैं। भाजपा नहीं चाहती है कि इन विषयों पर राजनीति हो। देश में एक अलग तरीके का वातावरण बनाने की कोशिश हो रही है। कठुआ मामले की सही जांच हुई है। केस तुरंत क्राइम ब्रांच को सौंपा गया। 6-7 लोगों को गिरफ्तार किया गया।




 एसआईटी का गठन किया गया है। मीनाक्षी लेखी ने जम्मू बार असोसिएशन के अध्यक्ष सलाथिया के बहाने इस केस से कांग्रेस को जोड़ा। मीनाक्षी लेखी ने कहा, एक तरफ बार असोसिएशन के अध्यक्ष सलाथिया कह रहे हैं कि न्याय चाहते हैं और दूसरी तरफ हाईकोर्ट को बंद करने की घोषणा की है। सलाथिया गुलाम नबी आजाद के पोलिंग एजेंट थे। अब आप देख लीजिए कैसी राजनीति हो रही है।