अभी भी बाढ़ से बेहाल है असम, अब तक 88 लोगों की मौत

Daily news network Posted: 2019-08-03 15:22:47 IST Updated: 2019-08-03 18:22:20 IST
अभी भी बाढ़ से बेहाल है असम, अब तक 88 लोगों की मौत

बाढ़ से बेहाल असम में हालात जस के तस हैं। राज्य में दो और लोगों की मौत हो गई, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 88 हो गई है। बाढ़ से राज्य के 12 जिलों में 1,65,763 लोग प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के बुलेटिन में यह बात कही गई है। अधिकांश नदियों में जल स्तर कम होने लगा है। 


 


वडोदरा में 6 लोगों की मौत

वहीं ओडिशा और राजस्थान में भारी बारिश के बाद जलभराव की समस्या उत्पन्न हो गयी है। गुजरात के बारिश प्रभावित वडोदरा शहर में विश्वमित्री नदी के जलस्तर में शुक्रवार को गिरावट के बाद हालात सामान्य हो रहे हैं। गुजरात के वडोदरा और आसपास के क्षेत्रों से 5,700 से अधिक लोगों को बाहर निकाला गया है। ये सारे इलाके बाढ़ की चपेट में हैं। राज्य के अधिकारियों ने कहा कि अहमदाबाद और सूरत के बाद राज्य के तीसरे सबसे बड़े शहर वडोदरा में बारिश से संबंधित घटनाओं में छह लोगों की मौत हुई है। यहां 24 घंटे में लगभग 500 मिमी बारिश होने से कई इलाके जलमग्न हैं। 



पीएम मोदी ने की फोन पर चर्चा

बाढ़ के पानी के साथ मध्यम आकार के सात मगरमच्छ वडोदरा के आवासीय क्षेत्रों में पहुंच गये, जिन्हें वन विभाग के अधिकारियों ने दो दिनों के भीतर पकड़ लिया। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एक ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के बाढ़ के हालात को लेकर उनके साथ फोन पर चर्चा की और केन्द्र की ओर से मदद का आश्वासन दिया। वहीं, ओडिशा में निचले इलाकों में बारिश का पानी भर गया है और मलकानगिरि जिले में सड़क संपर्क टूट गया है। बाढ़ जैसे हालात के चलते जिला प्रशासन ने दो दिन तक स्कूलों को बंद रखने का निर्देश दिया है। 



दिल्ली में फिर होगी झमाझम

मलकानगिरि में बीते 24 घंटे में 115.86 मिमी बारिश हुई है। भुवनेश्वर में एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। मौसम विभाग के मुताबिक ने दिल्ली में अगले तीन दिन के दौरान हल्की से मध्यम स्तर की होने का अनुमान जताया है। राष्ट्रीय राजधानी में इस मौसम में एक भी बार तेज बारिश नहीं हुई है। वहीं राजस्थान के जल संसाधन विभाग ने शुक्रवार को कहा कि अभी तक राजस्थान के किसी भी जिले में "खराब" बारिश नहीं हुई है। राजस्थान के दस जिलों में इस मॉनसून में "अधिक" वर्षा दर्ज की गई है, 14 जिलों में "सामान्य" और सात में "कम" बारिश हुई है। अधिकारियों ने कहा कि राज्य के कुल 810 बांधों में से 31 पूरी तरह भरे हुए हैं और 398 आंशिक रूप से पानी से भरे हुए हैं, जबकि 381 खाली हैं। अजमेर में शुक्रवार सुबह तक अधिकतम 114.2 मिमी बारिश दर्ज की गई।




पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में भारी बारिश का अनुमान जताया है।इस बीच, बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव के क्षेत्र के कारण शनिवार और रविवार को मुंबई में तेज बारिश का अनुमान है। मुंबई में मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पश्चिमी तट से लगे क्षेत्रों में मौसम खराब होने की चेतावनी जारी की गई है।हिमाचल प्रदेश में, सरकार ने सभी जिला-स्तरीय प्रशासकों को 8 अगस्त तक राज्य के कुछ हिस्सों में भारी बारिश को लेकर हाई-अलर्ट पर रहने के लिए कहा है। राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम स्तर बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने कहा कि ऊना जिले में गुरुवार शाम से सबसे अधिक 230.2 मिमी बारिश हुई।