असम- जब तिरंगे में लिपटा पहुंचा जवान का शव,देखकर मचा कोहराम

Daily news network Posted: 2018-04-14 10:24:35 IST Updated: 2018-04-14 10:24:35 IST
असम- जब तिरंगे में लिपटा पहुंचा जवान का शव,देखकर मचा कोहराम
  • एक पत्नी को अपने पति का तो वहीं दो बच्चों को अपने पिता का इंतजार था लेकिन घर लौटा तो उनका तिरंगे में लिपटा शव

गुवाहाटी

एक पत्नी को अपने पति का तो वहीं दो बच्चों को अपने पिता का इंतजार था लेकिन घर लौटा तो उनका तिरंगे में लिपटा शव, जिसे देखकर उनके घर में कोहराम मच गया, मणिपुर के आइन में असम राइफल के जवान की अचानक हार्ट अटैक से मौत हो गई जिससे ना सिर्फ उनके घर में बल्कि उनकी बटालियन में भी शोक का माहौल है, मृत जवान का नाम राकेश कुमार है।

 

 

 

 राकेश कुमार मणिपुर के आइना में स्थित बार्डर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। शुक्रवार को सेना के जवान का पार्थिव देह उसके पैतृक गांव चक्क भट्टियां लाया गया जिसको देख परिवार वालों का रो रोकर बुरा हाल है तो वहीं गांव के लोगों ने उन्हें नम आंखों से अंतिम विदाई दी। मृतक राकेश कुमार अपने पीछे 2 बच्चे और पत्नी छोड़ गए हैं। 

 

 

 

 

 तिरंगे में लिपटा जवान का शव असम यूनिट के सूबेदार रमेश चंद के नेतृत्व में नायक सूबेदार सुरेश कुमार, ध्रुव के साथ अजय कुमार जवान का शव लेकर कंदरोड़ी स्तिथ 9 फील्ड ऑर्डनेंस डिपो में पहुंचे। जहां से ऑर्डनेंस डिपो के कमांडेंट पारितोष उपाध्याय ने अपनी यूनिट से सेना के अधिकारियों को सेना के वाहन में भेजकर पूरे सैनिक सम्मान के साथ पार्थिव देह को उसके घर पहुंचाया। उपस्थित सेना के अधिकारियों ने अंतिम संस्कार के समय जवान के पार्थिव देह को श्रद्धांजलि देकर सलामी दी। साथ ही मृतक के 14 वर्षीय बेटे ने अपने पिता को मुखाग्नि भेट की। लेकिन जवान के अंतिमसंस्कार के समय सिविल प्रशासन का कोई भी अधिकारी और राजनेता मौजूद नहीं था जिसके कारण इलाके के लोगों में काफी रोष है।