हंगामे के बीच पेश हुआ अरुणाचल प्रदेश का बजट, विपक्ष ने किया वॉक आउट

Daily news network Posted: 2018-03-13 14:20:35 IST Updated: 2018-03-13 14:20:35 IST
हंगामे के बीच पेश हुआ अरुणाचल प्रदेश का बजट, विपक्ष ने किया वॉक आउट
  • अरुणाचल प्रदेश विधानसभा में बजट पेश करने के दौरान विपक्ष ने सदन में जमकर हंगामा किया। साथ ही मुख्यमंत्री पर गंभीर आरोप लगाते हुए कई विपक्ष नेता सोमवार को सदन से वाकआउट भी कर गए।

ईटानगर।

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा में बजट पेश करने के दौरान विपक्ष ने सदन में जमकर हंगामा किया। साथ ही मुख्यमंत्री पर गंभीर आरोप लगाते हुए कई विपक्ष नेता सोमवार को सदन से वाकआउट भी कर गए।

 


 विपक्ष नेता टाकम परियो मुख्यमंत्री प्रेमा खांडू पर ये आरोप लगाते हुए सदन से वाक आउट कर गए कि सरकार गूंगी और निष्क्रिय है। इसके पहले विपक्ष ने सदन में सरकार विरोधी नारे लगाने और प्रदर्शन करने शुरु कर दिए।

 विपक्ष का कहना था कि एमओयू पूरी तरह से भ्रष्टाचार का पुलिंदा है। राज्य सरकार ने जनता के लिए नर्क बना रखा है। हालांकि इतने हंगामे के बीच राज्य का बजट पेश कर दिया गया।

 


 उप मुख्यमंत्री चौना ने कहा कि बजट सात मुख्य बिंदुओं पर केंद्रित है वो है- पारदर्शिता, सतत विकास, समान और समावेशी विकास, ढांचा निर्माण, शिक्षा और स्वास्थ्य में सुधार, ग्रामीण अर्थव्यवस्था में बदलाव जिसके लिए 22,000 करोड़ के वितरण की घोषणा की गई। युवा विकास के लिए स्वास्थ्य और शिक्षा में सबसे ज्यादा 2,500 करोड का वितरण किया गया।


 बताया जाता है कि विपक्ष राज्य सरकार और एजुकेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड के बीच 30 करोड के 1500 स्मार्ट क्लासेस के निर्माण योजना पर एमओयू पर अपनी असहमति जता रहा था। यह एमओयू मुख्यमंत्री के आधुनिक शिक्षा योजना प्रोग्राम के तहत किया जा रहा था। हालांकि राज्य सरकार ने कहा कि यह एमओयू वर्तमान शिक्षा क्षेत्र में आए गैप को पाटने के लिए किया जा रहा है।

 

 विपक्ष ने बजट प्रस्तुत करने वाले दिन इस एमओयू पर हस्ताक्षर करने की जरुरत पर सवाल उठाया था। विपक्ष नेता निख कैम ने मुख्यमंत्री से पूछा कि क्या इसका मतलब ये नहीं है कि आप सबने बजट के पहले ही इस योजना पर आपस में सहमति बना ली थी।


 चौना में ने हालांकि इसका बचाव करते हुए कहा कि बजट सत्र के दौरान एमओयू पर हस्ताक्षर करना जायज है। चौना में ने विपक्ष के अडंगे पर खेद जताया। कहा कि सरकार का प्रयास गरीबों और किसानों के लिए बजट लाना है इसके साथ ही राज्य के छात्रों के लिए क्वालिटी शिक्षा प्रदान करना है। इसी दौरान विपक्ष के नेताओं ने सरकार विरोधी नारे लगाने शुरु कर दिए।

 


 हालांकि विस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के बोलने के बावजूद उन्होनें अपना नारा जारी रखा। परियो ने कहा, अगर आप भ्रष्टाचार करना जारी रखेंगे तो हम भी चुप नहीं बैठेंगे। इस बीच चौना मे ने सदन में बजट पेश करना जारी रखा।


 परियो का कहना था कि, सभी निर्वाचन क्षेत्र में फंड बराबर रुप से बांटे जाने चाहिए। अरुणाचल को सुधारो, बचाओ। आश्वासन बस मेज पर दिए जाते हैं लेकिन योजना का लाभ केवल कुछ लोगों को मिलता है। इस तरह की धोखेबाजी नहीं चलेगी। इस तरह कैसे कोई सरकार चल सकती है। इसी बीच सदन में विपक्ष के सभी माइक को बंद कर दिया गया। हालांकि इसके बावजूद वे मेज थपथपाते रहे और नारे लगाते रहे।