असम NRC को लेकर फिर मचा बवाल! इस संगठन ने कर दिया इतना बड़ा काम

असम NRC को लेकर फिर मचा बवाल! इस संगठन ने कर दिया इतना बड़ा काम News

असम NRC को लेकर फिर से बवाल मचने जा रहा है।

गुवाहाटी

असम NRC को लेकर फिर से बवाल मचने जा रहा है। असम के एक गैर सरकारी संगठन असम पब्लिक वर्क्स (एपीडब्ल्यू) ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी की पूरी प्रक्रिया के शत-प्रतिशत पुन:सत्यापन के अनुरोध के साथ उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। संगठन ने एनआरसी के अद्यतन करने में शामिल विसंगितयों का पता लगाने के लिए एक न्यायिक समिति द्वारा जांच कराये जाने की भी मांग की है।

सोमवार को शीर्ष अदालत में दायर एक नए हलफनामे में, एपीडब्ल्यू ने आरोप लगाया कि 31 अगस्त, 2019 को प्रकाशित एनआरसी की सूची में कई स्थानीय लोगों का नाम शामिल नहीं हैं, जबकि कई अवैध प्रवासियों के नाम सूची में शामिल हैं। हलफनामे में कहा गया है कि अंतिम एनआरसी सूची में जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश के चार ‘‘जिहादियों’’ के नाम थे, जिन्हें बारपेटा जिले से गिरफ्तार किया गया था। इसमें कहा गया कि  एनआरसी की सूची में जिन गिरफ्तार ‘‘जिहादियों’’ के नाम शामिल हैं, उनमें अजहरुद्दीन, रंजीत अली, लुइट जमीउल जमाल और मुकद्दिर इस्लाम हैं।

इससे पहले, उच्चतम न्यायालय में एनजीओ द्वारा दायर एक याचिका की वजह से पूर्वोत्तर राज्य में एनआरसी को अद्यतन करने का फैसला किया गया था। ताजा हलफनामे में, एपीडब्ल्यू ने यह भी आग्रह किया है कि सीबीआई, एनआईए और ईडी जैसी एजेंसियों को एनआरसी के पूर्व राज्य समन्वयक प्रतीक हजेला द्वारा एनआरसी को अद्यतन करने की प्रक्रिया में की गई धन की कथित हेराफेरी और अनियमितताओं की जांच करने की अनुमति दी जाए।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने हजेला को असम से उनके गृह राज्य मध्य प्रदेश में स्थानांतरित करने का आदेश दिया था और उन्हें पिछले साल 11 नवंबर को एनआरसी राज्य समन्वयक के पद से मुक्त कर दिया गया था। यहां पीटीआई-भाषा बात करते हुए, एपीडब्ल्यू के अध्यक्ष अभिजीत सरमा ने कहा, ‘‘नवीनतम हलफनामे में, हमने अनुरोध किया है कि एनआरसी की वैधता को उच्चतम न्यायालय की संविधान पीठ के समक्ष लंबित दो मामलों के अंतिम निपटान तक नहीं माना जाए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एनआरसी प्रक्रिया को फिलहाल रोक दिया जाना चाहिए और पूरी प्रक्रिया का 100 प्रतिशत पुन: सत्यापन किया जाना चाहिए।’’

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360

Top News

Tending Now