ब्रह्मपुत्र के अलावा सतलज नदी का भी डाटा शेयर करेगा चीन

Daily news network Posted: 2018-03-29 18:54:39 IST Updated: 2018-03-29 18:54:39 IST
ब्रह्मपुत्र के अलावा सतलज नदी का भी डाटा शेयर करेगा चीन
  • चीन ने कहा है कि वह मानवीय चिंता और भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों के विकास के मद्देनजर ब्रह्मपुत्र और सतलज नदियों को लेकर सूचनाओं की साझेदारी बहाल करेगा।

बीजिंग।

चीन ने कहा है कि वह मानवीय चिंता और भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों के विकास के मद्देनजर ब्रह्मपुत्र और सतलज नदियों को लेकर सूचनाओं की साझेदारी बहाल करेगा।

 


 चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ली कांग ने हेंगझोउ में आपदा प्रबंधन और जल वैज्ञानिकी सूचनाओं की साझेदारी के संबंध में दोनों देशों के जल संसाधन मंत्रालय के अधिकारियों की कल हुई दो दिवसीय बैठक के बाद गुरुवार को यह जानकारी दी।


 उन्होंने कहा, 'चीन भारत के साथ अपना सहयोग जारी रखेगा।'


 ब्रह्मपुत्र का उद्गम स्थल चीन के तिब्बत में है और यह भारत के अरुणाचल प्रदेश और असम में बहती है। भारत के लिए चीन द्वारा उपलब्ध कराए जाने वाला जलविज्ञान का डेटा पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ की तैयारियों के लिए काफी मददगार साबित होता है।


 

 भारत ने शिकायत की थी कि चीन से उसे पिछले वर्ष यह डेटा नहीं मिला था। समझौते के अंतर्गत, बीजिंग भारत के साथ नदी का डेटा साझा करता है, लेकिन पिछले वर्ष डोकलाम संकट के बाद चीन ने यह डेटा साझा नहीं किया था।

 


 

 भारत की तरफ से इस बैठक में जल संसाधन मंत्रालय के आयुक्त, तीरथ सिंह मेहरा और चीन की तरफ से जल संसाधन मंत्रालय के अंतर्गत विज्ञान व प्रौद्योगिकी पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग विभाग के कांसुल, यू शिंगजुन ने भाग लिया।