सिक्किमः अंबेडकर की जंयति पर हुआ कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ने की शिरकत

Daily news network Posted: 2018-04-15 10:56:44 IST Updated: 2018-04-15 13:07:04 IST
सिक्किमः अंबेडकर की जंयति पर हुआ कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ने की शिरकत
  • जाति व वर्ष विभाजित सामाजिक ढांचे का निर्माण धर्म के आधार पर हुआ है।

अखिल सिक्किम अनुसूचित जाति कल्याण संघ द्वारा संविधान निर्माता भारत रत्‍‌न डा. दादा साहेब भीम राव अंबेडकर के 127 वीं जयंति के अवसर पर शहर के पालजोर स्टेडियम में राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने शिरकत की। उन्होंने कहा कि जाति  विभाजित सामाजिक ढांचे का निर्माण धर्म के आधार पर हुआ है। हालांकि इस ढाचा का निर्माण लोगों ने ही किया है, जिसमें कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है। इसी वजह से घृणा एवं विभेद है, जिसको दूर करने के लिए हमारी सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं। 


 


उन्होंने कहा कि अब सिक्किम में जाति के आधार पर को भेदभाव व अन्याय नहीं होता है। इस बात की पुष्टि कानूनी तौर पर की जा सकती है। उन्होंने कहा कि  इसके अतिरिक्त सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट सरकार में परिगणित जाति के जनप्रतिनिधियों को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया है, ताकि वे सभी नीति निर्माण के निर्णय शामिल हो। इसी तरह पिछले दो साल से परिगणित जाति 4 मेधावी विद्यार्थियों को छात्रवृत्रि देकर उन्होंने नई दिल्ली व हरियाणा के स्कूलों में निशुल्क शिक्षा देने का काम राज्य सरकार बखूबी तरीके से कर रही है। उन्होंने कहा कि ये योजना भीम राव अंबेडकर स्कॉलरशिप के नाम पर चलाई जा रही है। वहीं इस मौके पर आयोजन समिति के संयोजक व सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री एके घतानी ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। 

 




वहीं दूसरी तरफ अखिल सिक्किम अनुसूचित जाति कल्याण संघ के अध्यक्ष ने नेपाली परंपरागत सामूहिक वाद्यवादन नौमती बाजा बजाने वाले वाद्यवादकों को मासिक भत्ते देने का मांग की। कार्यक्रम के दौरान  विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले समाज सेवकों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्यमंत्री चामलिंग, विधानसभा अध्यक्ष केएन राई, उपाध्यक्ष सोनाम ग्याछो लेप्चा व अन्य ने अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया।