बीजेपी की सहयोगी अगप अलग लड़ेगी पंचायत चुनाव, शुरू की तैयारियां

Daily news network Posted: 2018-04-06 13:33:59 IST Updated: 2018-04-06 14:08:07 IST
बीजेपी की सहयोगी अगप अलग लड़ेगी पंचायत चुनाव, शुरू की तैयारियां
  • राज्य की मुख्य क्षेत्रिय पार्टी आैर सत्ताधारी घटक असम गण परिषद आगामी पंचायत चुनाव के लिए कमर कस मैदान में उतर चुकी है। अगप ने एेलान किया है कि राज्य में होने वाले पंचायत चुनाव में अकेले चुनाव लड़ेगी,

राज्य की मुख्य क्षेत्रिय पार्टी आैर सत्ताधारी घटक असम गण परिषद आगामी पंचायत चुनाव के लिए मैदान में उतर चुकी है। अगप ने एेलान किया है कि राज्य में होने वाले पंचायत चुनाव में वह अकेले चुनाव लड़ेगी। इसके साथ ही यह विश्वास भी जताया है कि चुनाव में अच्छी जीत दर्ज करेगी। अगप ने खानापाड़ी स्थित वेटनरी खेल मैदान में आयोजित बूथ स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में इन घोषणाआें के साथ अघोषित तौर पर चुनावी बिगुल फूंक दिया है। इस सम्मेलन में भारी भीड़ नजर आर्इ।

 


पंचायत चुनाव में भारी जीत दर्ज करेगी अगप

 

 पार्टी अध्यक्ष अतुल बोरा की अध्यक्षता में सपन्न हुए सम्मेलन में सभी नेताआें ने कार्यकर्ताआें को संबोधित किया। सभी ने कहा कि जनता के हित आैर पार्टी के आदर्शों के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में अगप भारी जीत दर्ज कर वह अगले लोकसभा चुनावों के लिए राज्य में अपनी खाेर्इ राजनीतिक जमीन दोबारा पा लेगी।

 



भाजपा के साथ रहकर भी जनहित के लिए किया काम

 पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महंत ने कहा कि पूरे राज्य में पार्टी का जनाधार है बस उसे खाद-पानी की जरूरत है।  उन्होंने कहा कि लाख संकट आने के बाद भी पार्टी ने अपने क्षेत्रिय दल के चरित्र को नहीं बदला है आैर न ही अपने आदर्शाें के साथ समझौता किया है। इसके अलावा उन्होंने कहा, हमने सत्ताधारी मित्र गुट में शामिल रहते हुए भी जनहित में भरसक प्रयास किया है। उन्होंने आगे कहा कि हम मित्रता तब तक जारी रखेंगे जक तक असम समझौते के हर एक धारा का पालन होता रहेगा।

 

 


 पुराने गौरव को पाने के लिए एकजुट होने की जरूरत

 

 बोरा ने कहा हम एकजुट हो जाए तो पार्टी अपने पुराने गौरव को प्राप्त कर सकती है। उन्होंने कहा कि राज्य में 126 सीटों में से 84 विधानसभा सीटें एेसी है जहां अगप ने कोर्इ न कोर्इ चुनाव एक बार से लेकर सात बार जीता है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के पास सब कुछ है। जनता का आशीर्वाद, कार्यकर्ताआें का फौज आैर मतदाताआें का विश्वास एेसा काेर्इ कारण नजर नहीं आता जिससे ये जीत को दाेहरा न सके।

 



गांव के हर गरीब व्यक्ति तक भोजन पहुंचाने के लिए जरूरी पंचायत चुनाव

 बोरा के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री प्रफुल्ल महंत ने कहा कि गांव के सबसे गरीब व्यक्ति तक भोजन पहुंचाने के लिए पंचायत चुनावों का होना बहुत जरूरी है। महंत ने क्षेत्रियतावाद पर जोर देते हुए कहा कि पार्टी पर बहुत से संकट आए, लेकिन जनता ने पार्टी का साथ नहीं छोड़ा।