अगप और भाजपा का संग केले और बेर के पेड़ जैसा, जानिए किसने कसा ये तंज

Daily news network Posted: 2019-03-15 09:03:07 IST Updated: 2019-03-15 09:03:20 IST
अगप और भाजपा का संग केले और बेर के पेड़ जैसा, जानिए किसने कसा ये तंज
  • वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सदस्य भुवनेश्वर कलिता ने दार्शनिक अंदाज में भाजपा और अगप पुनर्मिलन पर कटाक्ष किया है।

गुवाहाटी

वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सदस्य भुवनेश्वर कलिता ने दार्शनिक अंदाज में भाजपा और अगप पुनर्मिलन पर कटाक्ष किया है। इसे केले और बेर की दोस्ती करार देते हुए उन्होंने अब्दुर्ररहीम खानाखाना का दोहा दोहराया। कहा, कहु रहीम कैसे निभै केर-बेर को संग, वे डोलत रस आपनो उनके फाटत अंग।

 

 


 लोकसभा चुनावों की घोषणा के बाद पहली बार प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कलिता ने अगप और भाजपा दोस्ती को बेमेल करार दिया। कहा कि एक नागरिकता कानून संशोधन विधेयक की धुर विरोधी है और दूसरी उसकी जन्मदाता। दोनों की दोस्ती कैसे निभेगी। यह तो स्वार्थ भरी है।

 



उन्होंने कहा कि भाजपा ने तो खुलकर कहा है कि फिर से सत्ता में आने पर वे नागरिकता कानून विधेयकत पुन: लाएंगे और उसे लागू कर ही दम लेंगे। वे समझ नहीं पा रहे हैं कि इसके बावजूद नागरिकता कानून संशोधन विधेयक का विरोध करने वाली अगप कैसे भाजपा के साथ हाथ मिला चुकी है। राज्य की जनता इसकी घोर निंदा कर रही है।

 


 आगामी लोकसभा चुनाव में मंगलदै से चुनाव लड़ने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व जो चाहेगा, वह वे करेंगे। उनकी जानकारी में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। क्या भाजपा-अगप की तरह कांग्रेस भी राज्य में एआईयूडीएफ से समझौता करने पर तैयार हो सकती है। इस सवाल के जवाब में वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि केवल अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ही इस मुद्दे पर कोई प्रस्ताव ग्रहण कर सकती है। उन्हें ऐसी किसी गतिविधि की जानकारी नहीं है।