तीन तलाक खत्म करने के बाद राहुल का जनता से एक और वादा

Daily news network Posted: 2019-02-10 13:54:42 IST Updated: 2019-02-10 17:46:09 IST
  • आने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों और कांग्रेस विधायक दल के नेताओं के साथ बैठक कर 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए महत्वपूर्ण निर्देश दिए।

नई दिल्ली

आने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों और कांग्रेस विधायक दल के नेताओं के साथ बैठक कर 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए महत्वपूर्ण निर्देश दिए। वहीं बैठक में इस बात पर भी चर्चा हुई कि अगर नागरिकता संशोधन विधेयक राज्यसभा में पारित नहीं होता है तो कांग्रेस की सरकार बनाने पर इस विधेयक को रद्द कर दिया जाएगा।

 


असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि अगर कांग्रेस 2019 में सरकार बनाती है तो यह बहुप्रतिक्षित नागरिकता विधेयक को रद्द कर देगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की घोषणापत्र समिति की बैठक के दौरान आगामी लोकसभा चुनावों की कार्य योजना पर चर्चा हुई है। राज्य के प्रत्येक क्षेत्र की समस्याओं की समीक्षा की गई। ज्ञात हो कि पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम कांग्रेस की घोषणा पत्र समिति के प्रमुख हैं। चिदंबरम की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य समितियों के अध्यक्ष, राज्य विधानसभाओं में विपक्ष के नेता, कांग्रेस शासित राज्य के मुख्यमंत्री, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नव नियुक्त महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा भी शामिल हुईं।

 


असम में एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन को लेकर पूछे जाने पर रिपुन बोरा ने कहा कि असम में कांग्रेस आगामी लोकसभा चुनाव में अकेले जाने के लिए तैयार है। इसी के साथ ही बोरा ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन की किसी भी संभावना को खारिज कर दिया। बोरा ने बताया कि राहुल गांधी ने प्रदेश अध्यक्षों को दिए निर्देशों में साफ तौर पर भाजपा के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाने और मोदी सरकार के पांच साल के शासन की नाकामियों को प्रमुखता से जनता के समक्ष रखने को कहा है। कांग्रेस की घोषणा-पत्र समिति की इस बैठक में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के साथ प्रदेश कांग्रेस के दो अन्य लोग भी मौजूद थे।