त्रिपुरा के प्रदर्शनकारियों पर प्रशासन की गोलीबारी, आसू की निंदा

Daily news network Posted: 2019-01-11 11:10:16 IST Updated: 2019-01-12 10:47:20 IST
त्रिपुरा के प्रदर्शनकारियों पर प्रशासन की गोलीबारी,  आसू की निंदा
  • अखिल असम छात्र संघ (आसू) ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2016 के खिलाफ आसू व पूर्वोत्तर छान्न संगठन (नेसो) की ओर से 8 जनवरी के आहूत पूर्वोत्तर बंद के दौरान त्रिपुरा में प्रदर्शनकारियों पर पुलिसिया बर्बरता पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है ।

गुवाहाटी।

अखिल असम छात्र संघ (आसू) ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2016 के खिलाफ आसू व पूर्वोत्तर छान्न संगठन (नेसो) की ओर से  8 जनवरी के आहूत पूर्वोत्तर बंद के दौरान त्रिपुरा में प्रदर्शनकारियों पर पुलिसिया बर्बरता पर कड़ी  प्रतिक्रिया व्यक्त की है । इस सिलसिले में आसू की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि आसू, 30 जनगोष्ठी संगठनों व नेसो के आह्वान पर 8 जनवरी के आहूत असम एवं पूर्वोत्तर बंद के दौरान त्रिपुरा में शांतिपूर्ण रूप से प्रदर्शन किए आंदोलनकारियों पर प्रशासन ने बर्बर  अत्याचार चलाया और पुलिस की गोलीबारी में 18 प्रदर्शनकारी धायल हो गए । 


इनमें से छह को गोलियां भी लगी । वहीं एक को बेहतर चिकित्सा के लिए कोलकाता भेजा गया है। दूसरी ओर घायलों के स्वास्थ्य का जायजा लेने के लिए आज आसू एवं नेसो के एक प्रतिनिधिमंडल त्रिपुरा के लिए रवाना  हुआ है । इस प्रतिनिधि मंडल में नेसो के सलाहकार तथा आसू के मुख्य सलाहकार डॉ. समुज्जल कुमार भट्टाचार्य, नेसो के अध्यक्ष सेमुवेल जेरया , नेसो के महासचिव चिनाम प्रकाश,  खासी छान्न संघ के महासचिव डोनाल्ड थवाह, प्रदाधिकारी हे मबार्ट खमिह, असम उन्नति सभा के संयोजक प्रीतम हजारिका समेत आसू-नेसो के प्रतिनिधि शामिल है ।