पुलिस के हत्थे चढ़ा 5 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या करने वाला

Daily news network Posted: 2018-04-11 15:50:15 IST Updated: 2018-06-26 14:51:02 IST
पुलिस के हत्थे चढ़ा 5 साल की बच्ची की रेप के बाद हत्या करने वाला
  • असम के डिब्रूगढ़ जिले में पांच साल की मासूम की बलात्कार के बाद हत्या करने वाला आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है। पुलिस ने रविवार रात आरोपी राजेन मर्दी(40) को गिरफ्तार किया।

डिब्रूगढ़।

असम के डिब्रूगढ़ जिले में पांच साल की मासूम की बलात्कार के बाद हत्या करने वाला आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है। पुलिस ने रविवार रात आरोपी राजेन मर्दी(40) को गिरफ्तार किया। 


 

मोरान पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले तिलोइकिनार बोंगाली गांव में राजेन ने पांच साल की मासूम की बलात्कार के बाद हत्या कर दी थी। इसके बाद से राजेन फरार था। राजेन को डिब्रूगढ़ से 20 किलोमीटर दूर स्थित घूरोनिया में उसके परिचित के घर से गिरफ्तार किया गया। आरोपी राजेन पीडि़ता के पिता के लिए हेल्पर का काम कर रहा था। 2 अप्रेल को नाबलिग गायब हो गई थी। 4 दिन बाद यानी 6 अप्रेल को नाबालिग लड़की का शव मिला। ग्रामीणों ने शव को तिलोई नदी में तैरते हुए देखा। उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचना दी। 



राजेन ने हत्या के बाद शव को सीमेंट के बैग में डालकर उसे नदी में बहा दिया था। शव बरामद होने से ग्रामीण भड़क गए। उन्होंने आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर प्रदर्शन किया। पुलिस ने आरोपी को पकडऩे के लिए दिन रात एक कर दिया लेकिन सफलता नहीं मिली। हत्याकांड के 4 दिन बाद भी आरोपी के हाथ नहीं आने के चलते डिब्रूगढ़ के एसपी गौतम बोराह ने मोरान पुलिस थाने के इंचार्ज भास्कर ज्योति को निलंबित कर दिया था।



 एसपी गौतम बोराह ने बताया कि 2 अप्रेल को आरोपी लड़की को साइकिल पर बिठाकर ले गया था। पीडि़ता के पिता और पड़ोसियों ने राजेन को लड़की को साइकिल पर बिठाकर ले जाते हुए देखा था। जब शाम तक लड़की घर नहीं लौटी तो वे राजेन के घर गए। राजेन ने बताया कि उसने तो लड़की को घर भेज दिया था। अगले ही दिन राजेन गांव से गायब हो गया। मंगलवार को गिरफ्तारी के बाद उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। पुलिस अधिकारी ने कहा, नाबालिग से रेप हुआ था या नहीं, इसको लेकर हम श्योर नहीं हैं। मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। हम राजेन के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत भी कार्रवाई करेंगे। 



आपको बता दें कि हत्याकांड के विरोध में कई महिला संगठनों और ऑल आदिवासी स्टूडेंट्स एसोसिएशन ऑफ असम(एएएसएए), असम टी ट्राइब्स स्टूडेंट्स एसोसिएशन(एटीटीएसए) और गोरखा स्टूडेंट्स यूनियन(जीएसयू) जैसे संगठनों ने प्रदर्शन किया था। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग 37 को जाम कर दिया था। इन संगठनों ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग की है।