असम से आया दिल दहलाने वाला मामला, 55 साल के बुजुर्ग ने किया 7 साल की बच्ची से रेप

Daily news network Posted: 2018-04-21 17:43:20 IST Updated: 2018-04-21 17:43:20 IST
असम से आया दिल दहलाने वाला मामला, 55 साल के बुजुर्ग ने किया 7 साल की बच्ची से रेप
  • यहां एक 7 साल की बच्ची को हवस का शिकार बनाया गया। इस मामले में पुलिस ने 55 साल के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

नाबालिगों से रेप की बढ़ती घटनाओं पर सख्ती बरतते हुए मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय कैबिनेट ने शनिवार को 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के दोषियों को मौत की सजा देने को मंजूरी दे दी। इसके लिए जल्द ही अध्यादेश जारी होगा। सरकार भले ही नया अध्यादेश लेकर आ रही है, लेकिन इससे पहले ही एक दिल दहलाने देने वाली घटना सामने आई है। ताजा मामला असम का है। यहां एक 7 साल की बच्ची को हवस का शिकार बनाया गया। इस मामले में पुलिस ने 55 साल के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि असम के तिनसुकिया जिले में लजुमबस्ती गांव में शुक्रवार की शाम गरीब परिवार की 7 साल की बच्ची से बलात्कार किया गया। आरोपी उसी के इलाके का बताया जा रहा है। हालांकि उसे गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।

 

 

आरोपी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के सेक्शन 4 के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसके खिलाफ जांच जारी है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पीडि़ता का पिता दिहाड़ी मजदूर है और जिस वक्त बच्ची घर पर अकेली थी, उसी वक्त आरोपी उसके घर आया और उसे बहला-फुसला कर उसे अपने घर ले गया, जहां उसका बलात्कार किया। बता दें कि 17 अप्रैल को इसी इलाके में एक और रेप की घटना सामने आई थी, जिसमें 8 साल की बच्ची से यौन उत्पीडऩ के आरोप में 22 साल के लड़के को गिरफ्तार किया गया था। पिछले महीने असम में महिलाओं और बच्चों के प्रति काफी अपराध की घटनाएं बढ़ी हैं।

 

 

इससे पहले भी होजई के पास महिला से चलते ट्रक में सामूहिक बलात्कार किया गया। घटना मंगलवार की थी, जब महिला समागुरी से एक ट्रक में चढ़ी। उससे ट्रक के अंदर ही कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया गया। गैंगरेप के बाद आरोपी पीडि़त महिला को होजई में राष्ट्रीय राजमार्ग 54 के पास फेंक कर चले गए। बुधवार सुबह स्थानीय लोगों ने महिला को देखा। उसके शरीर पर कई चोटों के निशान हैं। पीडि़ता की हालत बहुत गंभीर थी। ग्रामीणों ने तुरंत इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी और पीडि़ता को अस्पताल में भर्ती कराया। बाद में महिला को नगांव के बीपी सिविल अस्पताल में शिफ्ट किया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है। पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी है, लेकिन अभी तक आरोपियों की पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस अभी तक महिला का बयान नहीं ले पाई।