भाजपा सरकार 30 माह में देगी 7 लाख बेरोजगारों को नौकरी!

Daily news network Posted: 2018-04-05 12:58:08 IST Updated: 2018-04-05 12:58:08 IST
भाजपा सरकार 30 माह में देगी 7 लाख बेरोजगारों को नौकरी!
  • त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने राज्य में 30 माह के भीतर 7 लाख जॉब्स क्रिएट करने का दावा किया है। दिल्ली दौरे के दौरान एक अंग्रेजी समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में देब ने कहा, मैंने युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उत्पन्न करने पर काम शुरु कर दिया है।

अगरतला।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने राज्य में 30 माह के भीतर 7 लाख जॉब्स क्रिएट करने का दावा किया है। दिल्ली दौरे के दौरान एक अंग्रेजी समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में देब ने कहा, मैंने युवाओं के लिए रोजगार के अवसर उत्पन्न करने पर काम शुरु कर दिया है। मैं दो दिन में 15 मंत्रियों से मिल चूका हूं। दो दिन में ही राज्य के लिए 1 हजार करोड़ की राशि मिल चुकी हूं। राज्य में जल्द ही ओएनजीसी और अन्य के साथ प्रोजेक्ट्स आ रहे हैं। 




हमारे लिए बांग्लादेश बड़ा मार्केट है। मुझे उम्मीद है कि दो से ढाई साल में सात लाख बेरोजगारों को रोजगार मिल जाएगा। आपको बता दें कि त्रिपुरा में पहली बार भाजपा की सरकार बनी है। 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने लेफ्ट फ्रंट का सूपड़ा साफ कर दिया। मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने कहा कि त्रिपुरा के महान राजा के सम्मान में अगरतला एयरपोर्ट का नाम बीर बिक्रम किशोर माणिक्य एयरपोर्ट करने का वादा किया था। बतौर मुख्यमंत्री यह पहली चीज है जिसे करने की मेरी योजना है। मुख्यमंत्री ने कहा, 2003 में आरएसएस के जिन प्रचारकों की हत्या हुई थी, उन मामलों को हम खोल रहे हैं।




 12 हत्याओं के मामले की जांच के लिए एक समिति गठित की गई है। हाल ही में जिन दो पत्रकारों की हत्या की गई थी, उनकी भी जांच होगी और हम दोषियों को दंडित करेंगे। अलग त्विप्रालैंड की मांग को लेकर सहयोगी आईपीएफटी के साथ पेश आ रही मुश्किलों पर देब ने कहा कि आईपीएफटी का एक छोटा सा वर्ग दिल्ली में एकत्रित हुआ था। हमारे सहयोगियों के साथ कोई दिक्कत नहीं है और मैंने उनसे बात भी की है। हमारी कैबिनेट में आईपीएफटी के दो मंत्री हैं आगे विस्तार भी होगा। आईपीएफटी के मंत्रियों के पास वित्त जैसे महत्वपूर्ण विभाग हैं। 




वे हमारे सहयोगी हैं और पूरी तरह संतुष्ट हैं। आपको बता दें कि देब के दिल्ली पहुंचने से पहले आईपीएफटी के नेता राजधानी पहुंचे थे। वे अलग त्विप्रालैंड की मांग कर रहे हैं। लेनिन की प्रतिमा तोड़े जाने को मुख्यमंत्री देब ने गलत बताया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के कार्यभार संभालने के पहले यह घटना घटी। हम पहले ही जेसीबी ड्राइवर को गिरफ्तार कर चुके हैं। 9 मार्च को मैंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, तब से एक भी घटना नहीं घटी है।