48 साल पहले आज के दिन ही मेघालय बना था स्वायत्त राज्य

Daily news network Posted: 2018-04-02 16:58:26 IST Updated: 2018-04-02 20:06:00 IST
48 साल पहले आज के दिन ही मेघालय बना था स्वायत्त राज्य
  • 48 साल पहले 1970 में आज ही के दिन मेघालय को ‘असम पुनर्गठन अधिनियम’ के तहत स्वायत्तशासी राज्य का दर्जा हासिल हुआ था।

शिलांग।

48 साल पहले 1970 में आज ही के दिन मेघालय को ‘असम पुनर्गठन अधिनियम’ के तहत स्वायत्तशासी राज्य का दर्जा हासिल हुआ था। मेघालय का संस्कृत में अर्थ होता है बादलों का घर। बता दें कि मेघालय राज्य का गठन असम के ही दो जिलों संयुक्त गारो-जयन्तिया और खासी हिल्स को मिलाकर किया गया था।

  



 इसके बाद 21 जनवरी 1971 में मेघालय को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला। मेघालय की जनसंख्या 2,175,000 है। इसके उत्तर में असम है। जो कि ब्रह्मपुत्र नदी द्वारा विभाजित होता है और दक्षिण में बांग्लादेश है। मेघालय की राजधानी शिलांग है।




मेघालय में है सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान


मेघालय में ही मौसिनराम एक छोटा सा गांव है, जो राजधानी शिलांग से 65 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस गांव में सालाना 11,872 मिलीमीटर (467.4 इंच) बारिश के साथ पृथ्वी का सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान है।


 


 गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स


गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के अनुसार 1985 में मौसिनराम में 26,000 मिलीमीटर वर्षा हुई थी। यहां चेरापूंजी से भी 100 मिलीमीटर ज्यादा बारिश होती है।