शिवसेना ने मिलाया तृणमूल कांग्रेस और केजरीवाल की पार्टी से हाथ

Daily news network Posted: 2019-02-11 11:31:07 IST Updated: 2019-02-12 08:25:56 IST
शिवसेना ने मिलाया तृणमूल कांग्रेस और केजरीवाल की पार्टी से हाथ

इंफाल।

नागरिकता (संशोधन) बिल के खिलाफ अभियान के लिए मणिपुर में 11 राजनीतिक दलों ने नया गठबंधन बनाया है। जिसे मणिपुर डेमोक्रेटिक अलायंस नाम दिया गया है। राजनीतिक दलों का कहना है कि जब तक मणिपुर व पूर्वोत्तर के मूल नागरिकों की रक्षा के लिए बिल में क्लॉज नहीं जोड़ा जाता तब तक हम लड़ेंगे।

 

 


 आपको बता दें कि नागरिकता(संशोधन)बिल 8 जनवरी को लोकसभा में पारित हो गया था। बिल अभी तक राज्यसभा में पेश नहीं किया गया है। राज्यसभा में मोदी सरकार के पास बहुमत नही है। कहा जा रहा है कि 12 फरवरी को सरकार बिल को राज्यसभा में पेश कर सकती है। 11 राजनीतिक दलों का जो गठबंधन बना है उनमें शिवसेना, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, पीपुल्स डेमोक्रेटिक अलायंस, मणिपुर नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट, नॉर्थ ईस्ट इंडिया डिवलपमेंट पार्टी और मणिपुर पीपुल्स कांफ्रेंस शामिल है। नए गठबंधन में जो पार्टियां शामिल हुई है, उनके प्रतिनिधियों ने हाल ही में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से नई दिल्ली में मुलाकात की थी और एक ज्ञापन सौंपा था। इसमें क्षेत्र के मूल नागरिकों के लिए सेफगार्डिंग क्लॉज शामिल करने की मांग की गई है।

 



प्रेस कांफ्रेंस में नए गठबंधन की घोषणा करते हुए 11 राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने बताया कि बिल के मौजूदा स्वरूप के खिलाफ सभी दल अभियान शुरू करेंगे। शिवसेना की मणिपुर यूनिट के अध्यक्ष एम.थोम्बी ने कहा कि वे केन्द्रीय नेताओं के जवाब का इंतजार कर रहे हैं जो हाल ही में दिल्ली में मिले थे। थोम्बी ने कहा कि मणिपुर के मुुख्यमंत्री एन.बीरेन सिंह के नेतृत्व में जो प्रतिनिधिमंडल दिल्ली गया था, उसने एक ज्ञापन के जरिए गृह मंत्री से कहा था कि राज्यसभा में बिल पेश करने से पहले उसमें क्लॉज शामिल किया जाए ताकि जब बिल कानून बने तो पूर्वोत्तर खासतौर पर मणिपुर के मूल नागरिकों के प्रोटेक्शन के लिए पर्याप्त सेफगार्ड हों।