एविन लुईस की धमाकेदार पारी और शेल्डन कॉटरेल की घातक गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने पांच मैचों की टी-20 सीरीज के आखिरी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को 16 रनों से हराया. इस जीत के साथ ही कैरेबियाई टीम ने सीरीज को 4-1 से अपने नाम किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज ने 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 199 रन बनाए. जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 9 विकेट गंवाकर 183 रन ही बना सकी. कंगारू टीम की ओर से कप्तान आरोन फिंच ने सबसे ज्यादा 34 रन बनाए.

200 रनों के टारगेट का पीछा करने उतरी  ऑस्ट्रेलिया टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और जोस फिलिप बिना खाता खोले शेल्डन कॉटरेल की गेंद पर पवेलियन लौट गए. इसके बाद इन फॉर्म बल्लेबाज मिचेल मार्श ने कप्तान फिंच के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 37 रन जोड़े, लेकिन आंद्रे रसेल ने मार्श को आउट करके वेस्टइंडीज को बड़ी सफलता दिलाई. क्रीज पर सेट नजर आ रहे कप्तान फिंच (34) वॉल्श की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में लॉन्ग ऑन पर फैबियन एलन को कैच थमा पवेलियन लौटे.  21 रनों की अच्छी पारी खेलकर लय में नजर आ रहे मोइजेस हेनरिक्स दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रनआउट हुए. इसके बाद टीम ने लगातार अतंराल पर विकेट गंवाए और निर्धारित 20 ओवर में टीम 9 विकेट गंवाकर 183 रन ही बना सकी. कैरेबियाई टीम की तरफ से शेल्डन कॉटरेल और आंद्रे रसेल ने तीन-तीन विकेट झटके.

इससे पहले वेस्टइंडीज टीम के कप्तान निकोलस पूरन ने सीरीज में पहली बार टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया. फ्लेचर (16) और एविन लुईस (79) ने टीम को धमाकेदार शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 40 रन जोड़े. फ्लेचर को एडम जाम्पा ने क्लीन बोल्ड किया. इसके बाद क्रीज पर आए क्रिस गेल ने आते के साथ ही तेवर दिखाए और महज 6 गेंदों में 21 रन कूट दिए. गेल हालांकि इस तूफानी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर सके और स्वेपसन का शिकार बने. कप्तान पूरन ने भी कुछ दमदार शॉट्स लगाए और एक चौके और तीन छक्कों की मदद से 31 रनों की बेशकीमती पारी खेली. हालांकि, आंद्रे रसेल (1) और फैबियन एलन (1) आखिरी के ओवरों में बल्ले से कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से एंड्रयू टाय ने सबसे ज्यादा 3 विकेट झटके, जबकि मिचेल मार्श और एडम जाम्पा ने दो-दो विकेट चटकाए.