सीनियरों की तरह नॉर्थ ईस्ट ग्रुप में बिहार के जूनियरों ने शानदार प्रदर्शन कर कई रिकॉर्ड बनाए। भुवनेश्वर में आयोजित वीनू मांकड़ अंडर-19 क्रिकेट में बिहार ने सिक्किम को 227 रनों के सबसे बड़े अंतर से हराया। पहली बार बिहार की ओर से दो खिलाडिय़ों ने शतक जमाया, जिसमें एक शतकवीर पीयूष ने अपना और बिहार की ओर से अब तक का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया।

पांच विकेट लेने वाले गेंदबाज अपूर्वा ने भी पहली बार चार या उससे अधिक विकेट लिए। बिहार की 6 मैच में यह चौथी जीत है। दो मैच तूफान के कारण रद्द हुए थे। अब तक वह 20 अंक लेकर शीर्ष पर है। उसका अगला मैच 20 अक्टूबर को मणिपुर से होगा।  टॉस जीतकर पहलें बल्लेबाजी करते हुए बिहार की टीम पचास ओवर में 354 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। पीयूष और हर्ष राज ने नाबाद शतक बनाए। बिपिन सौरभ ने भी अर्धशतकीय पारी खेली। पीयूष और सौरव के आक्रामक रवैया का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि दोनों ने 100 रन 14 वें ओवर में पूरे किए।

21 वें ओवर में पहला विकेट बिपिन सौरभ (60 गेंद 74 रन, तीन छक्के, 10 चौके) के रूप में गिरा। टीम प्रबंधन ने हर्ष को प्रमोट कर तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी कराने का जो फैसला किया, उसमें कामयाबी मिली और उसने पीयूष के साथ मिलकर सिक्किम की गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा दी। पीयूष जब 49वें ओवर में शाह की गेंद पर आरिफ के हाथों लपके गए, तब तक वे अपना और बिहार का सर्वश्रेष्ठ रन स्कोर बोर्ड पर टांग चुके थे। उसने दो छक्के और 16 चौकों की मदद से 148 गेंद में 145 रन बनाए। हर्ष राज ने भी बहती गंगा में हाथ धोते हुए दो छक्के और 12 चौकों की मदद से 91 गेंद में 115 रनों की नाबाद शतकीय पारी खेली और बिहार को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया।

355 रनों का लक्ष्य सिक्किम के लिए बेहद मुश्किल होने वाला था और हुआ भी वही। हालांकि उसके लिए पूरे 50 ओवर खेलना सबसे बड़ी उपलब्धि रही। इस दौरान उसके दो बल्लेबाज ही दहाई का आंकड़ा छू सके।अपूर्वा के नेतृत्व में बिहार के गेंदबाजों ने मेडन गेंदबाजी की झड़ी लगा दी। अपूर्वा आनंद ने 10 ओवर में 5 मेडेन रखते हुए 12 रन देकर 5 विकेट लिए। स्पिन गेंदबाज शिवम ने 10 ओवर में 8 मेडेन रखते हुए मात्र तीन रन दिए और खूब सुर्खियां बटोरी।  आखिरकार सिक्किम की पूरी टीम पचास ओवर में 8 विकेट पर 77 रन  बना सकी। बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव रविशंकर प्रसाद सिंह ने टीम को बधाई दी है।