त्रिपुरा के लेग स्पिनर अमित अली ने आईपीएल नीलामी के लिए चुने गए 590 क्रिकेटरों में 472वां स्थान हासिल कर अपने करियर में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की।

अली का जन्म और पालन-पोषण त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले के कमलासागर के गाँव में हुआ था।

जब भारत-बांग्लादेश की सीमाओं पर कंटीली बाड़ें खड़ी की गईं, तो उनके घर सहित उनके गांव का एक बड़ा हिस्सा भारतीय सीमा से अलग हो गया।

हालांकि अली एक वास्तविक भारतीय नागरिक है, लेकिन उसे स्कूल जाने के लिए और क्रिकेट कोचिंग में जाने के लिए बाड़ को पार करके जाना पड़ता था।स्कूल में अपने शुरुआती दिनों में, अली ने खेलों में रुचि विकसित की और क्रिकेट को एक पेशे के रूप में चुनने का फैसला किया।

त्रिपुरा क्रिकेट एसोसिएशन के कोच तपन देब ने शुरू से ही उनका मार्गदर्शन किया और अली ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपना पहला ब्रेक मिलने तक अपने कौशल का प्रदर्शन जारी रखा। एक क्रिकेटर के रूप में उनकी उपलब्धि ने न केवल उनके माता-पिता के चेहरे पर मुस्कान ला दी, बल्कि कई लोगों को प्रोत्साहित भी किया।

उन्होंने वर्ष 2021 में लिस्ट ए में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पदार्पण किया। उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में त्रिपुरा के लिए और बाद में सैयद मुश्ताक अली टी 20 ट्रॉफी में खेलने का मौका मिला ।

उनके माता-पिता मोलसेन मिया और पुष्पना बेगम अपने बेटे की उपलब्धियों के बारे में जानकर खुश हैं। अमित चार बच्चों में दूसरे नंबर पर हैं।