टोक्यो ओलंपिक में भारतीय दल के साथ सबसे देर से जुड़ी पहलवान विनेश फोगाट एक्शन में भी सबसे देर से देखी जाएंगी महज ओलंपिक खत्म होने के तीन दिन पहले। कल सुबह 8 बजे 53 किलो ग्राम वर्ग में वह अपना पहला मैच खेलेंगी। इसके बाद अगर वह क्वालीफाय हुई जिसकी आशा भी है, तो 9 बजे करीब इस वर्ग का क्वार्टरफाइनल भी खेलेंगी और अगर आगे जाती है तो दोपहर 3.25 बजे सेमीफाइनल खेला जाएगा।

विनेश फोगाट के विदेशी कोच वॉलेर अकोस का मानना है कि यह भारतीय पहलवान स्पष्ट सोच के साथ तोक्यो जा रही है और उनके खेल में कोई कमी निकालना मुश्किल है। भारतीय दल में पदक की प्रबल दावेदारों में से एक विनेश को अपने वर्ग (53 किग्रा) में शीर्ष वरीयता दी गयी है। यह 26 वर्षीय खिलाड़ी इस साल अजेय रही है और इसलिए उन्हें शीर्ष वरीयता मिलना चौंकाने वाला फैसला नहीं है।उन्हें आखिरी बार फरवरी 2020 में एशियाई चैंपियनशिप में मायु मौकेदा से हार का सामना करना पड़ा था।

हंगरी के कोच अकोस का मानना है विनेश खेल की शानदार छात्रा है और उन्हें विश्वास है कि टोक्यो में वह स्वर्ण पदक के लिये मुकाबला करेगी। अकोस ने कहा, ‘‘उसकी सोच स्पष्ट है। उसका आक्रमण और जवाबी हमला पहले से बेहतर हो गया है। बाहर जो रणनीति तैयार की जाती है उन पर वह अच्छी तरह से अमल करती है क्योंकि वह किसी तरह के दबाव में नहीं रहती। कई बार वह ऐसा नहीं कर सकती लेकिन वह पहले से काफी बेहतर है। ’’

अकोस फरवरी 2019 से विनेश के साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह भारतीय पहले भी अच्छी पहलवान थी लेकिन अब वह अलग स्तर पर पहुंच गयी हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम सही राह पर आगे बढ़ रहे हैं। वह हर दिन बेहतर होती जा रही है। वह शारीरिक और रणनीतिक तौर पर अधिक बेहतर हो गयी है। उसका पांव का रक्षण बेहतर हो गया है। वह अपने खेल के प्रति अधिक सजग हो गयी है। ’’ अकोस ने कहा, ‘‘विनेश हर चीज में अच्छी है। मुझे उम्मीद है कि वह स्वर्ण पदक के लिये मुकाबला लड़ेगी। ’’