भारत को 2013 में पिछली चैंपियंस ट्राफी में खिताब दिलाने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को एक जून से इंग्लैंड में होने वाली आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के लिये सोमवार को घोषित 15 सदस्यीय भारतीय टीम में शामिल किया गया है। टीम में ओपनर रोहित शर्मा, ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की वापसी हुई है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) की सीनियर चयन समिति ने सोमवार को यहां अपनी बैठक के बाद 15 सदस्यीय टीम और पांच वैकल्पिक खिलाडिय़ों की घोषणा की। 

चयनकर्ता प्रमुख एमएसके प्रसाद ने टीम की घोषणा करते हुये कहा कि धोनी नाजुक परिस्थितियों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर हैं और उन्हें याद नहीं आता कि पिछले 10-12 साल में धोनी ने विकेट के पीछे कभी खराब प्रदर्शन किया हो। धोनी तीनों फार्मेट में कप्तानी छोड़ चुके हैं और वह सिर्फ सीमित प्रारूप में खिलाड़ी के तौर पर खेल रहे हैं। धोनी को आईपीएल-10 में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट््स की कप्तानी से भी हटा दिया गया था। धोनी ने घरेलू सत्र में झारखंड की कप्तानी की थी और विजय हजारे एकदिवसीय ट्राफी में अपनी टीम को सेमीफाइनल तक ले गये थे। घरेलू सत्र और आईपीएल में विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक और रिषभ पंत के शानदार प्रदर्शन को देखते हुये धोनी पर सवाल उठाये जा रहे थे, लेकिन चयनकर्ताओं ने धोनी को प्राथमिकता दी और कार्तिक तथा पंत को पांच वैकल्पिक खिलाडिय़ों में रखा। 

तेज गेंदबाज शमी ने अपना आखिरी वनडे 26 मार्च 2015 को सिडनी में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। उसके बाद चोटों के कारण वह काफी समय टीम से बाहर रहे। 26 वर्षीय शमी 2015 विश्वकप में भारत के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज थे। पूरी तरह फिट होने के बाद वह बंगाल के लिये विजय हजारे ट्राफी और आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिये खेले। उन्हें चैंपियंस ट्राफी के लिये पांच तेज गेंदबाजों में रखा गया। चैंपियंस ट्राफी एक जून से इंग्लैंड में खेली जानी है जहां भारत अपने खिताब का बचाव करने उतरेगा। बीसीसीआई ने कल फैसला किया था कि भारतीय टीम चैंपियंस ट्राफी में भाग लेगी और उसके 24 घंटे बाद विराट कोहली की कप्तानी में इसका एलान कर दिया। 

टीम में ओपनर शिखर धवन और रोहित शर्मा को रखा गया है। रोहित ने पहली पसंद ओपनर के रूप में अपना स्थान हासिल किया है। रोहित चोट के कारण पांच महीने मैदान से बाहर रहे थे। वह मार्च में मैदान पर लौटे और इस आईपीएल में मुंबई इंडियन्स के लिये अभी तक सभी 11 मैचों में खेले हैं। हर्निया चोट से उबर रहे ऑफ स्पिनर अश्विन टीम में शामिल दो विशेषज्ञ स्पिनरों में एक हैं। एक अन्य स्पिनर रवींद्र जडेजा हैं। लेफ्ट आर्म स्पिनर युवराज सिंह और पार्ट टाइम ऑफ स्पिनर केदार जाधव भी कुछ ओवर बांट सकते हैं। युवराज को घरेलू सत्र में और आईपीएल में अच्छे प्रदर्शन का फायदा मिला है। 

युवराज ने इस साल के शुरू में इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज से अपने वनडे करियर को नया जीवन दिया था। चयनकर्ताओं ने रोहित के जोड़ीदार के लिये ओपनर धवन पर भरोसा जताया है। लोकेश राहुल के चोटिल होने के कारण उन्हें टीम में जगह नहीं मिल पाई और चयनकर्ताओं ने शिखर को चुना। ओपनिंग के एक अन्य दावेदार अजिंक्या रहाणे को भी टीम में जगह मिली है। वैकल्पिक खिलाड़यिों में सुरेश रैना, दिनेश कार्तिक, कुलदीप यादव, रिषभ पंत और शार्दुल ठाकुर को रखा गया है। कार्तिक और पंत विकेटकीपर हैं जबकि कुलदीप चाइनामैन गेंदबाज और ठाकुर तेज गेंदबाज हैं। बायें हाथ के बल्लेबाज रैना का आईपीएल में शानदार प्रदर्शन रहा, लेकिन वह अंतिम टीम में जगह बनाने से चूक गये। प्रसाद ने बताया कि ये पांचों वैकल्पिक खिलाड़ी बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में ट्रेनिंग करेंगे और बीसीसीआई इंग्लैंड के लिये इनके वीजा आवेदन भेजेगा ताकि जरूरत पडऩे पर इन खिलाडिय़ों को जल्द चैंपियंस ट्राफी के लिये भेजा जा सके।

चयनकर्ता प्रमुख ने साथ ही बताया कि टीम में चुने गयेे सभी खिलाडिय़ों को चुनने का आधार घरेलू क्रिकेट में उनका प्रदर्शन रखा गया और इसमें सिर्फ आईपीएल को ध्यान में नहीं रखा गया। बायें हाथ के ओपनर गौतम गंभीर घरेलू क्रिकेट तथा आईपीएल में अपने शानदार प्रदर्शन के बावजूद एक बार फिर नजरअंदाज हो गये। ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने भी चुने जाने की उम्मीद जताई थी, लेकिन अश्विन को उनकी फिटनेस साबित हुये बिना टीम में रख लिया गया। वनडे टीम से लेग स्पिनर अमित मिश्रा को बाहर किया गया है।

भारतीय टीम इस प्रकार है- विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, केदार जाधव, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), अजिंक्या रहाणे, रवींद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार। वैकल्पिक खिलाड़ी- सुरेश रैना, दिनेश कार्तिक, कुलदीप यादव, रिषभ पंत और शार्दुल ठाकुर।