भारत में इस साल के आखिर में टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन होना है।  इसके लिए बीसीसीआई ने नौ शहरों में मैच कराने का प्रस्ताव रखा है।  इन शहरों में अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, धर्मशाला, हैदराबाद, कोलकाता, लखनऊ और मुंबई के नाम हैं।  टूर्नामेंट के आयोजन के शहरों का चयन पिछले सप्ताह बीसीसीआई की अपेक्स काउंसिल की बैठक में किया गया।  अब इन शहरों में मैच होंगे या नहीं इसका आखिरी फैसला आईसीसी  करेगा। 

इस दौरान वह भारत में कोरोना के हालात की समीक्षा भी करेगा।  उसके आधार पर ही मेजबानी वाले शहरों को चुना जाएगा।  टी20 वर्ल्ड कप में 16 देशों की टीमें हिस्सा लेंगी।  यह अक्टूबर और नवबंर के बीच आयोजित हो सकता है।  बताया जाता है कि 13 नवंबर को टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। यह मैच अहमदाबाद में हो सकता है। 

खबर है कि आईसीसी ने कुछ शहरों का दौरा भी किया है, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के चलते उसे अभी एक्सपर्ट्स को भारत भेजने में समस्या आ रही है।  माना जाता है कि 26 अप्रैल को आईसीसी की एक टीम भारत आ सकती है।  आईसीसी अभी आईपीएल 2021 के आयोजन पर भी नजऱ रखे हुए है।  यह टूर्नामेंट अगर बीसीसीआई ने सफलतापूर्वक पूरा आयोजित कर लिया तो टी0 वर्ल्ड कप के लिए उसका दावा मजबूत रहेगा।  बीसीसीआई आईपीएल 2021 का आयोजन छह शहरों में कर रहा है।  इसके तहत एक समय में दो ही शहरों में मैच खेले जा रहे हैं।  इसके लिए आठों टीमों को दो हिस्सों में बांटकर दो शहरों में रखा गया है। 

आईसीसी के अंतरिम सीईओ ज्यॉफ अलार्डिस ने दो सप्ताह पहले उम्मीद जताई थी कि वर्ल्ड कप अपने तय समय और योजना के अनुसार ही भारत में होगा।  लेकिन आईसीसी बैकअप प्लान भी बनाए हुए है।  बैकअप प्लान के लिए श्रीलंका और यूएई के नाम हैं।  लेकिन बीसीसीआई को भरोसा है कि वर्ल्ड कप भारत में ही होगा।  उसके अधिकारियों का मानना है कि वर्ल्ड कप के समय तक कोरोना के मामले कम पड़ जाएंगे।  साथ ही देश की अधिकांश आबादी को कोरोना वैक्सीन भी लग जाएंगे।  भारत सरकार ने 19 अप्रैल को 18 साल से ऊपर के सभी युवाओं को 1 मई से वैक्सीन लगाने को कहा है।