स्पेनिश स्टार राफेल नडाल ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में जगह बना ली है. शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल में उन्होंने इटली के माटेओ बेरेटिनी को मात दी. नडाल ने बेरेटिनी को 6-3, 6-2, 3-6, 6-3 से हराया. नडाल का फाइनल में रूस के डैनिल मेदवेदेव से मुकाबला होगा. दूसरे सेमीफाइनल में मेदवेदेव ने ग्रीस के स्टेफनोस सिटसिपास को मात दी.

 नडाल अब इतिहास रचने से सिर्फ एक जीत दूर हैं. वह फाइनल में जीतते ही  21वें ग्रैंड स्लैम पर कब्जा कर लेंगे.वर्ल्ड नंबर 5 खिलाड़ी राफेल नडाल ने 2019 के बाद ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में जगह बनाई है. 2019 में नडाल को फाइनल में नोवाक जोकोविच के हाथों सीधे सेटों में हार मिली थी. शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल में राफेल नडाल ने बेरेटिनी के खिलाफ पहले दो सेट में बेहतरीन खेल दिखाते हुए एकतरफा जीत हासिल की, लेकिन माटिओ बेरेटिनी ने तीसरे सेट में वापसी करते हुए नडाल के खिलाफ 6-3 से तीसरा सेट अपने नाम कर लिया.

चौथे सेट की शुरुआत में भी बेरेटिनी ने नडाल के खिलाफ शानदार संघर्ष दिखाया लेकिन अंत तक वह उसे बरकरार नहीं रख सके. चौथे सेट में नडाल ने 6-3 से जीत हासिल कर छठी बार फाइनल में प्रवेश कर लिया.नंबर 1 नोवाक जोकोविच की अनुपस्थिति में डैनिल मेदवेदेव इस टूर्नामेंट को जीतने के लिए फेवरेट माने जा रहे हैं. नडाल यहां सिर्फ एक बार 2009 में खिताब जीत सके हैं. नडाल, रोजर फेडरर और नोवाक जोकोविच के नाम अब तक 20 पुरुष एकल खिताब हैं. फेडरर और जोकोविच आस्ट्रेलियाई ओपन नहीं खेल रहे हैं.

खिताब के लिए होगा मेदवेदेव से सामना 

यूएस ओपन चैंपियन मेदवेदेव ने एक अन्य सेमीफाइनल में स्टेफनोस सिटसिपास को 7-6 (5), 4-6, 6-4, 6-1 से पराजित किया. मेदवेदेव ओपन युग में पहले ऐसे खिलाड़ी बनने की कवायद में हैं, जिन्होंने अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के बाद अगले ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट में भी जीत दर्ज की.

क्वार्टर फाइनल में दो सेट से पिछड़ने और मैच प्वाइंट बचाने वाले रूसी खिलाड़ी मेदवेदेव के लिए दो दिन बाद सिटसिपास के खिलाफ मैच भी भावनात्मक रहा. उन्होंने दूसरे सेट में सर्विस गंवाने के बाद चेयर अंपायर पर अपनी नाराजगी भी जताई. उन्होंने मांग की थी कि सिटसिपास को दर्शकों के बीच बैठे उनके पिता कोचिंग दे रहे हैं और इसके लिए यूनानी खिलाड़ी को चेतावनी दी जानी चाहिए.

मेदवेदेव यह सेट हार गए. उन्होंने पांच मिनट का विश्राम लिया और अधिक जज्बे के साथ कोर्ट पर उतरे. उन्होंने तीसरे सेट के आखिर में ब्रेक प्वाइंट लिया और फिर अगले सेट में लगातार पांच अंक बनाकर जीत दर्ज की.मेदवेदेव ने पिछले साल भी मेलबर्न पार्क में सेमीफाइनल में सिटसिपास को हराया था, लेकिन फाइनल में वह जोकोविच से हार गए थे.