साउथ अफ्रीका ने भारत के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में 288 रन के टारगेट का पीछा करते हुए 47 ओवर में 3 विकेट खोकर 288 रन बना कर एक दिवसीय सीरिज पर कब्जा कर लिया है. एडेन मार्करम (Aiden Markram ) और रेसी वान डेर डूसेन अविजित रहे. क्विंटन डिकॉक (Quinton de Kock)  78 रन बनाकर शार्दूल ठाकुर की गेंद पर एलबीडबलू आउट हुए. जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah ) ने यानेमन मलान को 91 रन के निजी स्कोर बोल्ड कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई. युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal )  ने तेंबा बाउमा (35) को कॉट एंड बोल्ड आउट किया.

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट खोकर 287 रन बनाए. ऋषभ पंत ने सबसे ज्यादा 85 और कप्तान केएल राहुल ने 55 रन बनाए. शार्दूल ठाकुर ने नाबाद 40 रन बनाए. साउथ अफ्रीका की ओर से तबरेज शम्सी ने सबसे ज्यादा दो विकेट लिए. सिसांदा मलागा, मार्करम, केशव महाराज और एंडिले फेलुकवायो ने 1-1 विकेट लिया.

शतक से चूके पंत

टीम इंडिया ने पहले दो विकेट 64 के स्कोर पर गंवा दिए थे. उसके बाद नंबर 4 पर ऋषभ पंत बैटिंग के लिए आए. पंत ने मैदान पर आने के साथ ही आक्रामक अंदाज में खेल दिखाया. उन्होंने 43 गेंदों पर अपनी फिफ्टी पूरी की. ऋषभ मैदान के चारों ओर बड़े शॉट्स लगा रहे थे और उनकी बल्लेबाजी को देखकर ऐसा लग रहा था कि वह अपना शतक पूरा करने में सफल होंगे. हालांकि ऐसा न हो सका और वह 85 रन बनाकर तबरेज शम्सी की गेंद पर आउट हुए. ऋषभ के वनडे करियर की ये सबसे बढिय़ा पारी रही.

पहली बार स्पिनर के खिलाफ शून्य पर आउट हुए कोहली

दूसरे मैच में विराट कोहली बिना खाता खोले ही आउट हो गए. उनका विकेट केशव महाराज के खाते में आया. 50 ओवर फॉर्मेट में पहली बार किसी स्पिन गेंदबाज ने कोहली को शून्य पर आउट किया. साथ ही विराट 2019 के बाद पहली बार वनडे क्रिकेट में 0 पर आउट हुए. कोहली से पहले शिखर धवन 29 रन बनाकर एडेन मार्करम की गेंद पर आउट हुए थे.