मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा पर आईपीएल मैच के दौरान अंपायर के निर्णय पर असहमति जताने के आरोप में मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना लगाया गया है। मुंबई और पुणे के बीच वानखेड़े स्टेडियम में सोमवार रात हुये मैच के दौरान रोहित ने अंपायर के निर्णय पर आपत्ति जताई थी, जिसके बाद उनके खिलाफ मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माना लगाया गया था। 

इंडियन प्रीमियर लीग की ओर से जारी बयान के अनुसार रोहित को ट््वंटी 20 लीग के नियम 2.1.5 के तहत दोषी पाया गया है और मुंबई के कप्तान ने अपने लेवल वन के आरोप को स्वीकार कर लिया है। आईपीएल के आचार संहिता के लेवल वन नियम का उल्लंघन करने पर मैच रेफरी का निर्णय बाध्य और अंतिम होता है। दो बार की चैंपियन मुंबई ने यह मैच तीन रन से गंवा दिया था, जिससे उसकी लगातार छह मैच जीतने की लय भी टूट गयी थी। फिलहाल मुंबई तालिका में आठ मैचों में छह जीतकर शीर्ष पर है।

बता दें कि मुंबई इंडियंस की इनिंग के 20वें ओवर की तीसरी बॉल पुणे के बॉलर उनदकड़ ने फेंकी। ये स्लो बॉल थी, जो ऑफ स्टम्प के बिल्कुल बाहर थी। तब रोहित शर्मा स्ट्राइक पर थे। इसके बाद उन्होंने अंपायर की तरफ देखा, लेकिन अंपायर ने जब वाइड का इशारा नहीं किया तो रोहित भड़क गए। वो काफी देर तक अंपायर से इस मामले पर डिस्कस करते रहे। तब रोहित 58 रन के निजी स्कोर पर खेल रहे थे और मुंबई को जीत के लिए 4 बॉल पर 11 रन चाहिए थे। इस डॉट बॉल के बाद मुंबई को तीन बॉल पर 11 रन की जरूरत थी। अगली बॉल पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में रोहित कैच आउट हो गए।