रणजी ट्रॉफी में लगातार छठा मैच जीतने का टीम उत्तराखंड का सपना नागालैंड ने तोड़ दिया। अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के मैदान में खेला गया रणजी ट्रॉफी मैच ड्रॉ हो गया। उत्तराखंड को पहली पारी में बढ़त के आधार पर तीन अंक और नागालैंड को एक अंक मिला। 


दूसरी पारी में शानदार शतकीय पारी खेलकर मैच ड्रॉ कराने वाले नागालैंड के अबरार काजी को मैन ऑफ द मैच चुना गया। पहली पारी में 207 के स्कोर सिमटने वाली नागालैंड की टीम ने दूसरी पारी में जबरदस्त खेल का प्रदर्शन किया।


उत्तराखंड ने पहली पारी में 557 रन बनाकर 350 रन की बढ़त हासिल की थी। इसके बाद तीसरे दिन नागालैंड ने 182 पर 4 विकेट गंवा दिए थे। तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर जोनाथन रोंगसन (23)और अबरार काजी (7) विकेट पर टिके हुए थे। मैच के चौथे दिन दोनों ने धैर्यपूर्वक बल्लेबाजी की, इस बीच जोनाथन ने 68 गेंद पर 52 और अबरार ने 69 गेंद में 50 रन पूरे किए।


पहला ड्रिंक ब्रेक होने तक स्कोर 257 रन था। इसके बाद 269 रन पर जोनाथन को 64 रन के निजी स्कोर पर मयंक मिश्रा ने वैभव भट्ट के हाथों कैच आउट कराया। जोनाथन और अबरार के बीच 112 रन की साझेदारी हुई।


इसी स्कोर पर मयंक ने तहमीद को भी पवेलियन वापस भेज दिया। मगर दूसरे छोर से अबरार काजी ने निचले क्रम के बल्लेबाजों के साथ साझेदारियां कर टीम को हार से बचाया और मैच ड्रॉ करा दिया। लंच ब्रेक तक नागालैंड ने 6 विकेट खोकर 306 रन बना लिए।


 लंच के बाद मयंक मिश्रा ने पारस को 37 रन पर आउट किया। इससे पहले पारस ने अबरार के साथ 67 रन की साझेदारी की। इसके बाद नीतेश ने अबरार काजी के साथ 137 रन की साझेदारी कर टीम का स्कोर चाय ब्रेक तक 437 तक पहुंचा दिया। चाय के बाद नागालैंड ने 127 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 467 रन बना लिए थे। इसके बाद मैच ड्रॉ घोषित कर दिया गया। अबरार काजी 228 गेंद में 157 और नीतेश 110 गेंद में 44 रन बनाकर नाबाद रहे।

उत्तराखंड ने आजमाए आठ गेंदबाज
मैच के अंतिम दिन उत्तराखंड के कप्तान रजत भाटिया ने नागालैंड के चौथे दिन बचे छह बल्लेबाजों को आउट करने के लिए हर तरह से कोशिश की। सुबह के सत्र में तेज गेंदबाजों का आजमाया, लेकिन सफलता नहीं मिली। अभी तक के सबसे सफल गेंदबाज दीपक धपोला दूसरी पारी में एक भी विकेट नहीं ले सके। दीपक ने 28 ओवर गेंदबाजी की और 93 रन दिए।


धनराज शर्मा ने 16 ओवर में 83 रन देकर 1, सन्नी राणा ने 11 ओवर में 50 रन देकर 1 विकेट लिया। सबसे सफल गेंदबाज मयंक मिश्रा रहे, जिन्होंने 32 ओवर में 82 रन देकर 3 विकेट चटकाए।