पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन टेस्ट मैच की सीरीज का आखिरी और निर्णायक मुकाबला लहौर में खेला जा रहा है। मेजबान टीम ने इस मुकाबले में अपने नाम शर्मानाक रिकॉर्ड दर्ज कर लिया है। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने उस्मान ख्वाजा (91), स्टीव स्मिथ (59), कैमरन ग्रीन (79) और ऐलेक्स कैरी (67) के अर्धशतकों की मदद से 391 रन बनाए थे। इसके जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम पहली पारी में 268 रनों पर ही ढेर हो गई। ऐसा नहीं कि पाकिस्तान को अच्छी शुरुआत नहीं मिली और लगातारा अंतराल पर विकेट मिले, टॉप 4 में तीन बल्लेबाजों ने अर्धशतक जड़े मगर आखिरी समय में टीम ताश के पत्तों की तरह ढह गई।

यह भी पढ़े : राशिफल 24 मार्च: वृश्चिक समेत इन राशि वालों का सूर्य की तरह चमकेगी किस्मत, इन राशि वालों को व्‍यवसायिक सफलता मिलेगी


अब्दुल्ला शफीक (81) और अजहर अली (78) ने पहला विकेट जल्दी गिरने के बाद टीम को संभाला और दूसरे विकेट के लिए 150 रनों की बड़ी साझेदारी की। इसके बाद बाबर (67) बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने अजहर के साथ 44 रनों की साझेदारी की। एक समय ऐसा था जब टीम ने 214 रनों पर अपने तीन विकेट खोए थे। तब ऐसा लग रहा था कि पाकिस्तान आसानी से ऑस्ट्रेलिया के स्कोर तक पहुंच जाएगी, मगर ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को ऐसा मंजूर नहीं था।

एक छोर कप्तान बाबर आजम ने संभाला हुआ था मगर दूसरे छोर पर लगातार विकेट गिर रहे थे। हद तो तब हो गई जब पाकिस्तान ने अपने आखिरी 5 विकेट मात्र 4 रन के अंदर खो दिए। 264 के स्कोर पर साजिद खान के रूप में पाकिस्तान का 6ठां विकेट गिरा, इसके बाद नौमान अली, हसन अली, बाबर आजम और नसीम शाह मात्र 10 गेंदों में अपने विकेट खोकर पवेलियन लौट गए। इसी के साथ पाकिस्तान के क्रिकेट के इतिहास का सबसे बड़ा कॉलेप्स हुआ। इससे पहले पाकिस्तान ने 2003 में केपटाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने आखिरी 5 विकेट 5 रनों के अंदर खोए थे। तब 247 पर पाकिस्तान को 6ठां झटका लगा था और पूरी टीम 252 रनों पर सिमट गई थी।

यह भी पढ़े : लव राशिफल 24 मार्च: आज इन राशि वालों का किसी नए शख्स के प्रति बढ़ेगा आक्रषण, खुशनुमा रहेगा दिन


बात ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी की करें तो कप्तान पैट कमिंस ने 5, मिशेल स्टार्क ने 4 और नाथन लायन ने एक विकेट लिया। इस शानदार परफॉर्मेंस के बाद मेहमान टीम ने 123 रनों की बढ़त हासिल की।

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने बिना विकेट खोए दूसरी पारी में 11 रन बना लिए हैं। क्रीज पर डेविड वॉर्नर के साथ उस्मान ख्वाजा मौजूद हैं और ऑस्ट्रेलिया के पास 134 रनों के बढ़त है।