भारतीय डेविस कप टीम में रिजर्व खिलाड़ी के तौर पर रखे गए अनुभवी लिएंडर पेस ने लियोन चैलेंजर्स टेनिस टूर्नामेंट के रूप में 2017 का पहला युगल खिताब जीतने के साथ ही एक बार फिर साबित कर दिया है कि 43 वर्ष की उम्र में भी वह अपने खेल के शीर्ष स्तर पर हैं। 

शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए पेस ने कनाडा के अपने जोड़ीदार आदिल शमसदीन के साथ यहां रविवार को पुरूष युगल फाइनल में स्विटजरलैंड के लूका मार्गारोली और ब्राजील के कारो जैमपियरी की जोड़ी को लगातार सेटों में 6-1 6-4 से शिकस्त देकर 75 हजार डॉलर की ईनामी राशि वाला हार्ड कोर्ट टूर्नामेंट जीत लिया। 

पेस का यह वर्ष 2017 का पहला खिताब है जबकि करियर में यह उनका 20वां चैलेंजर्स खिताब है। 43 वर्षीय पेस ने अपना आखिरी खिताब 2015 में दक्षिण अफ्रीका के रावेन क्लासेन के साथ ऑकलैंड में जीता था। पेस को सात से नौ अप्रैल तक उज्बेकिस्तान के खिलाफ होने वाले डेविस कप मुकाबले में रिजर्व के तौर पर रखा गया है और अभी यह तय नहीं है कि युगल मैच में पेस और रोहन बोपन्ना के बीच किसे खेलने का मौका मिलेगा। 

लियोन चैलेंजर्स से पहले तक पेस इस सत्र में अभी तक किसी भी टूर्नामेंट के फाइनल में भी जगह नहीं बना सके थे। वह इससे पहले दुबई चैंपियनशिप और डेलरे बीच ओपन में केवल सेमीफाइनल तक ही पहुंचे थे। लेकिन लियोन में पेस और उनके जोड़ीदार शमसदीन ने कमाल का खेल दिखाया जिन्हें टूर्नामेंट में तीसरी वरीयता दी गयी थी। पेस ने आखिरी बार वर्ष 2015 में ऑकलैंड क्लासिक के रूप में अपना एटीपी टूर खिताब जीता था। 

अनुभवी भारतीय टेनिस खिलाड़ी पेस ने वर्ष 2013 में रादेक स्तेपानेक के साथ यूएस ओपन के रूप में अपना आखिरी पुरूष युगल ग्रैंड स्लेम खिताब जीता था। हालांकि मिश्रित युगल में स्विटजरलैंड की मार्टिना हिंगिस के साथ उन्होंने तीन ग्रैंड स्लेम जीते हैं।