न्‍यूजीलैंड और बांग्‍लादेश के बीच क्राइस्टचर्च के हेगले ओवल के मैदान पर दिग्गज बल्लेबाज रॉस टेलर (Ross Taylor) आखिरी बार सफेद जर्सी में खेलते हुए नजर आ रहे हैं। रॉस टेलर जब अपने अंतिम टेस्ट में बल्लेबाजी करने के लिए उतरे तब मैदान पर एक अनोखा नजारा देखने को मिला। यह रॉस टेलर के लिए काफी इमोशनल पल था ऐसे में बांग्लादेशी टीम ने भी इस पल को रॉस टेलर (Ross Taylor) के लिए खास बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। बांग्लादेश टीम ने खास अंदाज में इस कीवी हीरो का वेलकम किया।

न्यूजीलैंड के लिए नंबर चार पर बल्लेबाजी करने उतरे रॉस टेलर (Ross Taylor) जब मैदान पर उतरे तब पूरा मैदान तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। मैदान पर मौजूद सभी दर्शकों समेत टेलर के फैमिली मेंबर्स ने भी खड़े होकर तालियां बजाई वहीं बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने इस दिग्गज खिलाड़ी को 'गार्ड ऑफ ऑनर दिया'। वहीं, रॉस टेलर (Ross Taylor) की बल्लेबाजी के दौरान स्टैंड में बैठीं उनकी मां को थोड़ा भावुक देखा गया।

हालांकि, रॉस टेलर के लिए उनके अंतिम टेस्ट मैच की पहली पारी कुछ खास नहीं रही। रॉस टेलर 39 गेंदों पर महज 28 रन बनाकर आउट हो गए। रॉस टेलर के 28 रनों की पारी में 4 चौके शामिल थे। तेजी से रन बनाने के चक्कर में रॉस टेलर (Ross Taylor) बांग्लादेशी गेंदबाज इबादत हुसैन को खेलने में पूरी तरह से नाकामयाब रहे और शोरिफुल इस्लाम ने उनका कैच लपक लिया।

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया और नीदरलैंड्स के खिलाफ वनडे सीरीज के बाद रॉस टेलर लिमिटेड ओवर क्रिकेट से भी संन्यास ले लेंगे। रॉस टेलर न्यूजीलैंड के सबसे सफल बल्लेबाजों में से एक हैं। 37 साल के रॉस टेलर ने अब क 112 टेस्ट, 233 वनडे और 102 टी20 इंटरनेशनल मैचों में शिरकत की है। वहीं अगर दूसरे टेस्ट मैच की बात करें तो न्यूजीलैंड की टीम ने 6 विकेट पर 521 रन बनाकर पहली पारी घोषित की थी। जवाब में बांग्लादेश की पहली पारी महज 126 रनों पर सिमट गई।