टी20 वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज का प्रदर्शन काफी खराब रहा था और वह सुपर-12 स्टेज के लिए क्वालिफाई करने में नाकाम रही थी। टी20 वर्ल्ड कप के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था जब विंडीज की टीम मुख्य ड्रॉ में नहीं पहुंच पाई। इस खराब प्रदर्शन के बाद विंडीज क्रिकेट में बवाल मचा हुआ है। अब निकलोस पूरन ने सीमित ओवर्स टीम की कप्तानी छोड़ दी है।

FIFA world cup 2022: इंग्लैंड के सामने ईरान का सरेंडर, 6-2 से मिली करारी शिकस्त


पूरन को कीरोन पोलार्ड के स्थान पर लिमिटेड ओवर्स में वेस्टंडीज टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था और उन्हें कप्तानी संभाले हुए लगभग छह महीने ही हुए थे। अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किए गए लंबे पोस्ट में पूरन ने कहा कि कप्तानी छोड़ना टीम के लिए सही निर्णय है और इससे उन्हें अगले ICC टूर्नामेंट्स की तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल जाएगा। निकोलस पूरन ने अपने बयान में कहा, टी20 विश्व कप की निराशा के बाद से मैंने कप्तानी के बारे में काफी सोचा है। मैंने बहुत गर्व और समर्पण के साथ भूमिका निभाई और अपना सब कुछ दिया है। टी20 विश्व कप कुछ ऐसा है जो हमें परिभाषित नहीं करना चाहिए। मैं क्रिकेट वेस्टइंडीज को मार्च होने वाली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज और उससे आगे के मैचों से पहले पर्याप्त समय देना चाहता हूं।

11 साल पहले ही सूर्यकुमार यादव को लेकर रोहित शर्मा ने की थी चौंकाने वाली भविष्यवाणी, वायरल हुआ मामला


निकोलस पूरन ने आगे कहा, मैं विंडीज क्रिकेट को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध हूं और एक सीनियर प्लेयर के रूप में सपोर्टिव रोल निभाता रहूंगा। मेरा मानना है कि वेस्टइंडीज की सीमित ओवरों की कप्तानी छोड़ना टीम और मेरे लिए सर्वोत्तम हित में है। मुझे इस बात पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है कि एक खिलाड़ी के रूप में मैं टीम को क्या दे सकता हूं। मैं सफल हो सकता हूं और टीम को बेहतर प्रदर्शन करके दे सकता हूं।