मैड्रिड। टेनिस दिग्गज स्पेन के राफेल नडाल ने रूसी और बेलारूसी खिलाडिय़ों पर विंबलडन और लॉन टेनिस एसोसिएशन के प्रतिबंध लगाने को 'अनुचित' बताया है। बीबीसी ने नडाल, जो एटीपी प्लेयर काउंसिल के एक सद्स्य हैं, के हवाले से कहा, 'मुझे लगता है रूसी टेनिस के मेरे साथियों के साथ बहुत गलत हो रहा है। युद्ध में इस समय जो भी कुछ हो रहा है वह उनकी गलती नहीं है। 

यह भी पढ़ें- केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी आज करेंगे मणिपुर का दौरा, इम्फाल को देंगे कई सौगात

उन्होंने कहा, 'जब भी हम गैंड स्लैम में जाते हैं दो हजार पॉइंट वाकई में हमारे लिए महत्वपूर्ण होते हैं। हमें वैसे टूर्नामेंटों में जाना है, जहां हमें सभी उपायों को देखना होगा जो हम करते हैं।' उन्होंने आगे कहा, 'हमारे गेम में क्या होता है इसका कोई मायने नहीं होता, जब हम यूक्रेन में कई सारे लोगों को मरते हुए और उनकी स्थिति को दयनीय होते हुए देखते हैं।' 

यह भी पढ़ें- तुरा के BJP MDC बर्नार्ड एन मारक ने मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा पर लगाए गंभीर आरोप

उल्लेखनीय है कि इससे पहले एसोसिएशन ऑफ टेनिस प्रोफेशनल्स(एटीपी) तथा महिला टेनिस प्रोफेशनल्स(डब्ल्यूटीए) ने भी खिलाडिय़ों के प्रतिबंध पर कड़ी आलोचना करते हुए इसको 'अनुचित' और 'निराशाजनक' बताया था। गौरतलब है कि इस फैसले से दुनिया के नंबर दो खिलाड़ी डेनियल मेदवेदेव, आंद्रेई रुब्लेव, रूस की अनस्तासिया पाव्लुचेंकोवा और पूर्व वर्ल्ड नंबर 1 विक्टोरिया अजारेंका तथा बेलारूस की चौथी रैंक की आर्यना सबालेंका सहित कई उच्च रैंक वाले खिलाड़ी प्रभावित हुए हैं।