मुंबई इंडियंस की मालिक नीता अंबानी को बीसीसीआई के नैतिक मामलों के अधिकारी विनीत सरन ने उनके खिलाफ दायर हितों के टकराव की शिकायत का जवाब देने के लिए कहा है। मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एमपीसीए) के पूर्व सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत की थी। उन्होंने यह मुद्दा उठाया था कि आईपीएल में मुंबई फ्रेंचाइजी की मालिक अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) की भी निदेशक हैं, जिसकी सहायक कंपनी वायकॉम 18 ने आईपीएल प्रसारण के अधिकार खरीदे थे। 

ये भी पढ़ेंः आउट ऑफ फॉर्म बल्लेबाज विराट कोहली को BCCI ने दिया एक और बड़ा मौका, पाकिस्तान से भी भिड़ेगी टीम इंडिया


वायकॉम ने यह अधिकार 23,758 करोड़ में 2023 से 2027 तक की अवधि के लिए खरीदा था। वायकॉम 18 ने जून में बीसीसीआई द्वारा आयोजित नीलामी में ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूके और साउथ अफ्रीका के लिए डिजिटल अधिकार और मीडिया अधिकार (टीवी और डिजिटल दोनों) हासिल किए थे। संजीव के अनुसार आईपीएल में एक टीम के मालिक के रूप में और आईपीएल प्रसारण अधिकार हासिल करने वाली सहायक कंपनी के मालिक के रूप में अंबानी की स्थिति हितों के टकराव का प्रतिनिधित्व करती है। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश सरन ने शिकायत पर लिखित जवाब दाखिल करने के लिए अंबानी को 2 सितंबर तक का समय दिया है।

ये भी पढ़ेंः CWG 2022: टेबल टेनिस में शरत-श्रीजा ने किया कमाल, जीता स्वर्ण पदक


सरन ने अंबानी को अपने नोटिस में लिखा, आपको सूचित किया जाता है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के नैतिकता अधिकारी को बीसीसीआई के नियमों और विनियमों के नियम 39 (बी) के तहत कुछ कृत्यों के बारे में शिकायत मिली है, जो कथित तौर प र‘हितों के टकराव’ का गठन करते हैं। आपको 2-9-2022 को या उससे पहले संलग्न शिकायत पर अपनी लिखित प्रतिक्रिया दर्ज करने का निर्देश दिया जाता है। शिकायत दर्ज कराने वाले संजीव का भारतीय क्रिकेट में हितों के टकराव के मुद्दों को उठाने का इतिहास रहा है। अतीत में उन्होंने विराट कोहली, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, एमएस धोनी और बीसीसीआई उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला सहित अन्य लोगों के खिलाफ ऐसी शिकायतें दर्ज की हैं। ईएसपीएनक्रिकइंफो और डिज्नी स्टार, वॉल्ट डिज्नी कंपनी का हिस्सा हैं। डिज्नी स्टार भी ई-नीलामी का हिस्सा था और उसने 2023 से 2027 तक भारत के लिए आईपीएल टीवी अधिकार हासिल किए हैं।