रूस के डेनिल मेदवेदेव ने वर्ल्ड नंबर वन सर्बिया के टेनिस स्टार नोवाक जोकोविच को हराकर यूएस ओपन 2021 का खिताब जीत लिया है।  इस हार के साथ ही जोकोविच का 'कैलेंडर ईयर ग्रैंड स्लैम' पूरा करने का सपना भी टूट गया।  

फाइनल में मेदवेदेव ने जोकोविच को किसी भी तरह का कोई मौका नहीं दिया।  अपनी तेजतर्रार सर्विस और सटीक ग्राउंड स्ट्रोक्स के दम पर उन्होनें ये मैच सीधे सेटों में 6-4, 6-4, 6-4 से जीत लिया. यूएस ओपन के अपने इस खिताबी सफर में 25 साल के मेदवेदेव ने केवल एक सेट गंवाया. ये मेदवेदेव के करियर का पहला ग्रैंड स्लैम टाइटल है। 

इस जीत के साथ ही मेदवेदेव ने इस साल ग्रैंड स्लैम में जोकोविच का विजयी रथ भी थाम दिया है। जोकोविच ने इस साल के शुरुआती तीनों ग्रैंड स्लैम अपने नाम किये थे और वो इस फाइनल से पहले तक अपना एक भी ग्रैंड स्लैम मैच नहीं हारे थे।  

ऑस्ट्रेलिया ओपन, फ्रेंच ओपन और विम्बलडन के बाद उनकी नजरें यूएस ओपन का खिताब जीत 52 साल बाद कैलेंडर ईयर ग्रेंड स्लैम पूरा करने पर थी।  ओपन एरा में ऐसा करने वाले वो ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रॉड लेवर के बाद दूसरे खिलाड़ी बन जाते. महान टेनिस खिलाड़ी रॉड लेवर ने 1969 में ये कारनामा किया था। 

फाइनल में इस हार के साथ ही जोकोविच ग्रैंड स्लैम टाइटल की रेस में पहले पायदान पर पहुंचने से भी चूक गए. जोकोविच के पास यहां खिताब जीतकर सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम जीतने के मामले में राफेल नडाल और रोजर फेडरर को पीछे छोड़ने का मौका था।  इन तीनों ही के नाम 20-20 ग्रैंड स्लैम खिताब हैं

मैच के बाद मेदवेदेव ने अपनी खेल भावना का परिचय देते हुए सबसे पहले जोकोविच और उनके फैंस से इस बात के लिए माफी मांगी कि उन्होंने जोकोविच को इतिहास बनाने से रोक दिया।  मेदवेदेव ने कहा, "नोवाक और उनके फैंस से मैं माफी चाहता हूं। 

हम सभी जानते हैं कि वो इस फाइनल में कौन सा इतिहास रचने जा रहे थे।  साथ ही उन्होंने जोकोविच की तारीफ करते हुए कहा, "आपने अब तक कि अपने करियर में जो कुछ हासिल किया है वो बेमिसाल है।  मेरे लिए आप टेनिस इतिहास के सबसे महान खिलाड़ी हैं। 

जोकोविच ने मेदवेदेव को इस शानदार जीत के लिए बधाई दी और कहा, आप यहां इस जीत के हकदार थे।  अगर इस समय ऐसा कोई भी एक टेनिस खिलाड़ी है जो ग्रैंड स्लैम के खिताब का हकदार है तो वो आप हैं। 

मेदवेदेव टेनिस इतिहास में रूस के केवल तीसरे ऐसे पुरुष खिलाड़ी हैं जिन्होंने ग्रैंड स्लैम का खिताब अपने नाम किया है।  इस से पहले येवगेनि काफेलनिकोव और मरात साफिन ये कारनामा कर चुके हैं।  काफेलनिकोव ने 1996 का फ्रेंच ओपन और 1999 का ऑस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीता था।  वहीं साफिन ने 2000 में यूएस ओपन और 2005 में ऑस्ट्रेलिया ओपन का खिताब अपने नाम किया था।