कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज मनीष पांडे के बार धुआंधार पारी खेल कर अपनी टीम को विजेता बनाया है। पांड ने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ शानदार 69 रनों की पारी खेली। बता दें कि मनीष आईपीएल में किसी भारतीय की तरफ से पहला शतक जडऩे वाले बल्लेबाज भी हैं। उन्होंने आईपीएल के दूसरे सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए 73 गेंदों पर 114 रनों की पारी खेली थी। इस परफॉरमेंस के बाद से मनीष रातों-रात स्टार बन गए थे।

 

 

2008 से रणजी मैच खेल रहे कर्नाटक के इस बैट्समैन के परफॉर्मेंस पर आईपीएल सिलेक्टर्स की नजर पड़ी। जिसके बाद विराट की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने उन्हें खरीदा था। 2009 के आईपीएल सीजन में जब उन्होंने ये रिकॉर्ड इनिंग खेली तब वे सिर्फ 19 साल के थे। अपनी इस धुआंधार सेन्चुरी की बदौलत मनीष ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु में अपनी जगह पक्की कर ली थी। इसके बाद आईपीएल में उन्हें सीनियर प्लेयर्स की तरह तवज्जो दी जाने लगी। बेंगलुरु के अलावा पांडे आईपीएल में मुंबई इंडियंस और पुणे वारियर्स से भी खेल चुके हैं। 

 

आपको बता दें कि कोलकाता और दिल्ली के बीच सोमवार को खेले गए आईपीएल के 18वें मैच में कोलकाता ने दिल्ली को 4 विकेट से हरा दिया। मनीष पांडे के अलावा इस मैच में यूसुफ पठान ने 59 रन बनाए।