क्रिकेट खिलाड़ी कुलदीप यादव को कोविड टीकाकरण के दौरान निर्धारित प्रोटोकॉल के विपरीत वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने की जांच के आदेश दिए गए हैं।  कुलदीप यादव ने 15 मई को टीके की पहली डोज लेने के बाद अपनी टीका लगवाते हुए एक फोटो शेयर की और ट्वीट कर सभी से टीका लगवाने का आग्रह किया था। 

बाएं हाथ के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप उस फोटो में अस्पताल के बजाय एक लॉन में टीका लगवाते हुए दिख रहे हैं।  इसे टीकाकरण संबंधी प्रोटोकॉल का उल्लंघन माना जा रहा है।  कानपुर के जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार को मामले की जांच कर जल्द से जल्द रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं। 

एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि कुलदीप को गोविंद नगर स्थित जागेश्वर अस्पताल में टीका लगाया जाना था लेकिन उन्हें कानपुर नगर निगम के गेस्ट हाउस के लॉन में यह टीका लगाया गया। 

कुलदीप का वह ट्वीट देखने के बाद लोगों ने यह कहना शुरू किया कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री तक को अस्पताल जाकर टीका लगवाना पड़ा।  ऐसे में कुलदीप के लिए प्रोटोकॉल क्यों तोड़ा गया।