दिल्ली कैपिटल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को चार विकेट से हराया। केकेआर ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर नौ विकेट पर 146 रन बनाये। दिल्ली ने इसके जवाब में 19 ओवर में छह विकेट पर 150 रन बनाकर जीत दर्ज की। दिल्ली की सात मैचों में यह तीसरी जीत है जबकि कोलकाता को आठ मैचों में लगातार पांचवीं हार का सामना करना पड़ा है।

यह भी पढ़े : राशिफल 29 अप्रैल 2022: शनि आज से करेंगे कुंभ राशि में प्रवेश, आज इन लोगे को व्यापार में होगा लाभ ही लाभ 


बायें हाथ के कलाई के गेंदबाज कुलदीप यादव ने तीन ओवर में 14 रन देकर चार विकेट लिये जबकि तेज गेंदबाज मुस्ताफिजुर रहमान (चार ओवर में 18 रन देकर तीन विकेट) ने उनका अच्छा साथ दिया। इससे केकेआर ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर नितीश राणा के 34 गेंदों पर 57 रन के बावजूद नौ विकेट पर 146 रन बनाये। 

यह भी पढ़े : Shani Rashi Parivartan : आज शनिदेव अपनी स्वराशि में करेंगे गोचर, इन राशि वालों को मिलेगा शुभ समाचार, शुरू होंगे अच्छे दिन


दिल्ली ने 19 ओवर में छह विकेट पर 150 रन बनाकर अपनी चौथी जीत दर्ज की। उसके आठ मैचों में आठ अंक हो गये हैं। केकेआर की यह लगातार पांचवीं हार है। उसके नौ मैचों में छह अंक हैं। दिल्ली की तरफ से डेविड वार्नर (26 गेंदों पर 42 रन, आठ चौके), रोवमैन पॉवेल (16 गेंदों पर नाबाद 33, एक चौका, तीन छक्के), अक्षर पटेल (24) और ललित यादव (22) ने उपयोगी योगदान दिया। केकेआर के लिये उमेश यादव ने 24 रन देकर तीन विकेट लिये लेकिन उसे पांचवें गेंदबाज की कमी खली।

यह भी पढ़े : Today's Panchang April 29 : आज है मासिक शिवरात्रि , शुभ पंचांग से जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल


केकेआर की पारी में नितीश राणा  आठवें ओवर में तब क्रीज पर उतरे जब स्कोर चार विकेट पर 35 रन था। उन्होंने तीन चौके और चार छक्के लगाये तथा इस बीच कप्तान श्रेयस अय्यर (37 गेंदों पर 42) के साथ 48 और रिंकू सिंह (16 गेंदों पर 23) के साथ 62 रन की साझेदारी की। केकेआर के केवल यही तीन बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे।

दिल्ली की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। उमेश यादव ने पृथ्वी सॉव को पारी की पहली गेंद पर वापस कैच देने के लिये मजबूर किया जबकि युवा हर्षित राणा ने कोविड-19 से उबरकर वापसी करने वाले मिशेल मार्श (13) को नहीं टिकने दिया। दिल्ली वार्नर के कुछ उम्दा चौकों की मदद से पावरप्ले में 47 रन बनाये।

दिल्ली की पारी का पहला छक्का ललित ने हर्षित की फुलटॉस पर लगाया लेकिन उमेश ने दूसरे स्पैल के लिये गेंद थामते ही दो रन के अंदर तीन विकेट निकल गये। उमेश ने पहले वार्नर को पवेलियन भेजा और फिर कप्तान ऋषभ पंत (दो) को विकेट के पीछे कैच कराया। वार्नर के हुक शॉट को शार्ट फाइन लेग पर कैच करने वाले सुनील नारायण ने इस बीच ललित को पगबाधा आउट किया जो डीआरएस लेने की स्थिति में बच सकते थे।

केकेआर को पांचवें गेंदबाज की कमी खली। नितीश ने अपने एक ओवर में 14 रन दिये और जब आंद्रे रसेल गेंदबाजी के लिये आये तो अक्षर ने उनका स्वागत चौके और छक्के से किया। वह इस ओवर में हालांकि रन आउट हो गये लेकिन श्रेयस ने जब वेंकटेश को गेंद सौंपी तो पॉवेल ने उन पर छक्का और चौका लगाया। अब श्रेयस ने स्वयं गेंद थामी तो पॉवेल ने उन पर विजयी छक्का जड़ा।

यह भी पढ़े : राशिफल 29 अप्रैल 2022: शनि आज से करेंगे कुंभ राशि में प्रवेश, आज इन लोगे को व्यापार में होगा लाभ ही लाभ 

इससे पहले केकेआर ने टॉस हारने के बाद शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को भी गंवाने में देर नहीं लगायी। आठवें ओवर में उसका स्कोर था चार विकेट पर 35 रन। पावरप्ले में केवल 29 रन बने और बीच दोनों सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (तीन) और वेंकटेश अय्यर (छह) पवेलियन लौटे।

फिंच की वापसी सुखद नहीं रही। वह एलबीडब्ल्यू होने से बचे, उनका कैच छूटा लेकिन बायें हाथ के तेज गेंदबाज चेतन सकारिया (17 रन देकर एक विकेट) ने इनस्विंगर पर इस आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज की गिल्लियां बिखेरकर उन्हें जीवनदान का फायदा नहीं उठाने दिया। वेंकटेश ने अक्षर पटेल (28 रन देकर एक) की गेंद स्वीप करने के प्रयास में आसान कैच दिया।

कुलदीप ने आठवें ओवर में गेंद थामी तथा पदार्पण कर रहे बाबा इंद्रजीत (छह) और सुनील नारायण (शून्य) को लगातार गेंदों पर आउट किया। इसके बाद जब वह 14वें ओवर में दूसरे स्पैल के लिये आये तो उन्होंने इस ओवर में श्रेयस और खतरनाक आंद्रे रसेल (शून्य) को अपनी बलखाती गेंदों का मजा चखाकर केकेआर की वापसी की उम्मीदों पर पानी फेरा।

श्रेयस ने नितीश के साथ पांचवें विकेट के लिये 48 रन की साझेदारी की। उन्होंने इस बीच पारी संवारने पर ध्यान दिया और चार चौके लगाये जबकि नितीश ने ललित यादव पर 13वें ओवर में पारी का पहला छक्का लगाया। पंत ने हालांकि श्रेयस का नीचा रहता कैच लिया और फिर बड़ी खूबसूरती से रसेल को स्टंप आउट किया।

पंत का कुलदीप के बजाय ललित को 17वां ओवर देने का फैसला हालांकि सही नहीं रहा। नितीश ने इस ओवर में दो छक्कों की मदद से 17 रन बटोरे। इसमें कमर से ऊंचाई की एक नोबॉल भी शामिल है जिसके लिये पंत को अंपायर से बातचीत करते हुए भी देखा गया।

नितीश ने शार्दुल ठाकुर की गेंद पर छक्का जड़कर 30 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। मुस्ताफिजुर ने अपने तीनों विकेट पारी के आखिरी ओवर में लिये जिनमें रिंकू सिंह और नितीश के विकेट भी शामिल हैं। इस ओवर में केवल दो रन बने।