केरला ब्लास्टर्स की टीम रविवार को जब यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन के अपने अगले मैच में गोवा एफसी की मेजबानी करेगी तो उसका मकसद पूरे तीन अंक हासिल करना होगा। कोच एल्को स्काटोरी की टीम इस मैच से वापस जीत की पटरी पर लौटना चाहेगी। केरला की टीम ने इस सीजन में एटीके के खिलाफ अपना पहला मैच जीतने के बाद से पिछले चार मैचों में एक भी जीत दर्ज नहीं की है। टीम के कई खिलाड़ी इस दौरान चोटिल भी हुए हैं।


बार्थोमोलोमेव ओगबेचे एटीके के खिलाफ गोल करने के बाद से पिछले चार मैचों में एक भी गोल नहीं कर पाए हैं। स्काटोरी को उम्मीद है कि नॉर्थईस्ट यूनाइटेड एफसी का यह पूर्व मिडफील्डर अपने प्रदर्शन में सुधार करेंगे और केरला के लिए गोल दागेंगे। सर्जियो सिडोंचा एक अन्य खिलाड़ी हैं, जिनसे केरला को काफी उम्मीद होगी। स्काटोरी ने कहा, 'चोटों को लेकर कुछ ज्यादा बदलाव नहीं हुआ है। मैंने गोवा के कोच का इंटरव्यू देखा था, जिसमें उन्होंने कहा है कि हमारे पास एक ऐसी टीम है, जोकि खिताब के लिए खेल सकती है। मैं उनसे सहमत नहीं हूं। इस समय हम केवल अपने स्तर में सुधार करने की कोशिश कर रहे हैं। हम अभी भी बचाव की मुद्रा में हैं।'


दूसरी तरफ, सर्जियो लोबेरा की एफसी गोवा टीम अभी तक अपनी फॉर्म में नहीं लौटी है। टीम ने अब तक केवल एक क्लीन शीट हासिल की है, जोकि उसने चेन्नइयन एफसी के खिलाफ अपने पहले मैच में किया था। फेरान कोरामिनास सहित अपने कई खिलाडिय़ों के चोटिल और निलंबन के कारण टीम अब तक सही लय हासिल नहीं कर पाई है। मौजूदा फॉर्म और पिछले मुकाबलों को देखकर लोबेरा जरूर खुश होंगे। केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ गोवा ने आईएसएल के इतिहास में पिछले 10 मैचों में से सात में जीत दर्ज की है और 25 गोल किए हैं। पिछले सीजन के मैचों में भी गोवा एफसी ने केरला ब्लास्टर्स को अपने घर में 3-0 से और उसके घर में 3-1 से हराया था। लोबेरा ने यहां के माहौल की तारीफ करते हुए उम्मीद जताई कि फैन्स को उनके घरेलू मैदान पर एक अच्छा मुकाबला देखने को मिलेगा। लोबेरा ने कहा, 'केरला में खेलना अछ्वुत है। मुझे लगता है कि सभी पेशेवर फुटबालर इस तरह के खूबसूरत माहौल में खेलना चाहेंगे। इस तरह की परिस्थतियों में खेलने से खिलाड़ी प्रोत्साहित होते हैं। मैं सभी मैच इस तरह की परिस्थितियों में खेलना चाहता हूं।'