भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर (The first Test between India and New Zealand) के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेला गया पहला टेस्ट ड्रॉ रहा है. टीम इंडिया के पास कानपुर टेस्ट जीतने का अच्छा मौका था, लेकिन वह जीत से एक विकेट दूर रह गई. एजाज पटेल (Ejaz Patel)  और रचिन रविंद्र (Rachin Ravindra) की जोड़ी 52 गेंदों तक विकेट पर खड़ी रही और टीम इंडिया जीत से चूक गई. 

मैच के आखिरी दिन न्यूजीलैंड को जीत के लिए 284 रन बनाने थे, लेकिन टीम 9 विकेट के नुकसान पर 165 रन ही बना सकी. भारत की ओर से दूसरी पारी में रविंद्र जडेजा ने चार और आर अश्विन (R Ashwin) ने तीन विकेट चटकाए. इन दोनों के अलावा अक्षर पटेल (Akshar Patel)  और उमेश यादव (Umesh Yadav) को एक-एक विकेट मिला.

रविचंद्रन अश्विन (35/3) और रविंद्र जडेजा (40/4) की कातिलाना बोलिंग के दम पर एक वक्त भारत कानपुर टेस्ट को जीतने के बेहद करीब था, लेकिन भारतीय मूल के अचिन रविंद्र (91 गेंद, नाबाद 18 रन) ने खूंटा गाड़ते हुए मैच ड्रॉ करा दिया. उनके साथ एजाज (2 नाबाद) ने 23 गेंदें खेलीं और भारत के जबड़े से जीत छीनने में अहम भूमिका निभाई. वर्ल्ड चैंपियन न्यूजीलैंड को 284 रनों का लक्ष्य मिला था. सीरीज का दूसरा टेस्ट वानखेड़े स्टेडियम में 3 दिसंबर से खेला जाएगा.

स्पिनरों के लिए स्वर्ग पिच पर कीवी टीम ने 5वें दिन की शुरुआत तो दमदार की, लेकिन जैसे-जैसे गेम आगे बढ़ा भारतीय गेंदबाजों ने विकेट चटकाते हुए मेहमानों पर जबरदस्त दबाव बनाया. हालांकि, अचिन रविंद्र ने एजाज के साथ मोर्चा संभाला भारतीय गेंदबाजों की मेहनत पर पानी फेर दिया. न्यूजीलैंड जब मैच ड्रॉ की घोषणा हुई तो उसने 98 ओवरों में 9 विकेट पर 165 रन बनाए थे.

अश्विन और जडेजा के अलावा अक्षर पटेल और उमेश यादव ने एक-एक विकेट झटके, जबकि न्यूजीलैंड के लिए टॉम लाथम ने सबसे अधिक 52 रन की पारी खेली. उनके अलावा नाइटवॉचमैन विलियम समरविले ने 36 और कप्तान केन विलियमसन ने 24 रन बनाए. मैच बचाने वाले अचिन ने नाबाद 18 रन की पारी खेली. इनके अलावा कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों का सामना टिककर नहीं कर सका.

पहले सत्र में विल समरविले और टॉम लाथम ने भारतीय गेंदबाजों को कोई सफलता हाथ नहीं लगने दी लेकिन दूसरा सत्र भारतीय गेंदबाजों के नाम रहा जिन्होंने तीन विकेट चटकाये. उमेश यादव ने लंच के ठीक बाद समरविले को शॉर्ट गेंद पर आउट किया जिन्होंने 110 गेंद में 36 रन बनाये. शुभमन गिल ने लॉन्ग लेग सीमा पर उनका कैच लपका. विलियमसन पहली पारी की तुलना में आत्मविश्वास से भरे दिखे जिन्होंने ईशांत शर्मा को चौका भी जड़ा.