अपने नए आक्रमण के दम पर हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में रणनीति बदलने के बारे में सोच रही एफसी पुणे सिटी को मंगलवार को यहां श्री छत्रपति शिवाजी स्पोटर्स कॉम्पलेक्स में खेले जाने वाले मैच में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी की कड़ी चुनौती का सामना करना है।


मौजूदा स्थिति और शीर्ष चार में बैठी टीमों को देखकर पुणे की प्लेऑफ की रेस में बने रहने की राह मुश्किल नजर आ रही है। पुणे अंकतालिका में आठ मैचों में पांच अंकों के साथ आठवें स्थान पर काबिज है।


इंटरनेशनल ब्रेक में जाने से पुणे को फायदा हुआ है। ब्रेक से आने के बाद वह संभली और उसने पिछले सप्ताह जमशेदपुर एफसी को मात देकर अपनी पहली जीत हासिल की थी। पुणे स्टार स्ट्राइकर इयान ह्यूम के आने से भी मजबूत हुई हो जो लंबी चोट के बाद लीग में वापसी कर हैं। उन्होंने काफी कम समय में अपनी उपयोगिता को साबित किया है।


विंग्स पर आशिके कुरियन मेजबान टीम के लिए शानदार खेल रहे हैं। उन्होंने अपनी ड्रब्लिंग स्किल्स से विपक्षी टीम के डिफेंडरों को काफी परेशान किया है। टीम के अंतरिम कोच प्रद्यूमन रेड्डी को उम्मीद है कि मार्सेलिन्हो अपनी शीर्ष फॉर्म में वापसी कर लें। मार्सेलिन्हो जब अपनी फॉर्म में होता है तो वह किसी भी टीम के डिफेंस को मात दे सकता है।


रेड्डी को उम्मीद है कि उनकी टीम अच्छा खेलेगी और नार्थईस्ट के डिफेंस को परेशान करेगी। उन्होंने कहा, 'ब्रेक में जाने से पहले हमने कोशिश की थी कि हम फ्री होकर खेलें। हालांकि, हमें वो परिणाम नहीं मिले जो मिलने चाहिए थे। हमारी टीम में इस समय जो अटैकिंग विकल्प हैं तो उन्हें देखकर हमारे लिए बेहतर यही होगा कि हम अटैकिंग सोच के साथ खेलें क्योंकि हमें तीन अंक की जरूरत है।'


उन्होंने कहा, 'अगर आप लीग की तालिका को देखेंगे तो हमें केरला के पास जाने की जरूरत है। केरला हमसे एक स्थान ऊपर है। हमें उस तरह के अटैकिंग माइन्डसेट की जरूरत है।' वहीं नार्थईस्ट युनाइटेड ने अपने पिछले मैच में केरला ब्लास्टर्स को एक रोमांचक मैच में मात दी थी। केरला के खिलाफ उसने दो गोल इंजुरी टाइम में किए थे। पिछले सप्ताह मिली जीत से नार्थईस्ट के आत्मविश्वास में इजाफा हुआ होगा और उसकी प्लेऑफ में क्वालीफाई करने की उम्मीदों को भी हवा मिली होगी।


रोचक बात यह है कि जैस-जैसे सीजन बढ़ता जा रहा है नार्थईस्ट का डिफेंस काफी मजबूत होता जा रहा है। उसने अपने आठ मैचों में सिर्फ सात गोल खाए हैं। इससे उनकी आक्रमण पंक्ति को फायदा पहुंचा है। बाथोर्मोलमेव ओग्बेचे ने अभी तक सात गोल किए हैं। वह गोल्डन बूट की रेस में फरान कोरोमिनास (8) और सुनील छेत्री (5) के साथ बने हुए हैं। टीम के कोच इल्को स्काटोरी ने कहा, 'पुणे पर हमसे ज्यादा दवाब है। हमने अभी तक जो खेल खेला है उसे बनाए रखने की जरूरत है। पुणे की कोशिश आगे निकलने की होगी इसलिए यह रोचक मैच होगा।'


उन्होंने कहा, 'पुणे की टीम में कई शानदार योग्यता वाले खिलाड़ी हैं। उनके पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैच में अंतर पैदा कर सकते हैं। मुझे साफ तौर पर पता है कि पुणे की कमजोरी क्या है। उम्मीद है कि हम इसका फायदा उठा पाएंगे।'