इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल का रोमांच धीरे-धीरे बढता ही जा रहा है।  आज लोकेश राहुल के पंजाब किंग्स का मुकाबला संजू सैमसन की अगुआई वाली राजस्थान रॉयल्स से होने वाली है।  जब दोनों टीमें अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ करने के इरादे से उतरेंगी तो सभी की नजरें दोनों टीमों में मौजूद बड़े हिटर पर टिकी नजर आएगी। 

राजस्थान की टीम पर नजर डालें तो ये आक्रामक आलराउंडर बेन स्टोक्स पर काफी निर्भर करेगी। स्टोक्स लय में आने का प्रयास करेंगे जबकि इंग्लैंड के जोस बटलर और नव नियुक्त कप्तान सैमसन भी अच्छी शुरुआत करने के लिए मैदान में उतरेंगे। 

रॉयल्स की टीम की रीढ यानी यशस्वी जायसवाल और बटलर पारी का आगाज करते नजर आ सकते हैं जबकि सैमसन तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते दिख सकते हैं।  स्टोक्स मध्यक्रम को मजबूती देने का काम करेंगे।  ये चारों अगर लय में खेलते हैं तो किसी भी गेंदबाज के छक्के छुडा सकते हैं। 

पंजाब के बल्लेबाजी क्रम की बात करें तो वो भी वानखेड़े की बल्लेबाजी की अनुकूल पिच पर किसी भी विरोधी टीम के लिए खतरनाक होगा।  रॉयल्स के पास आलराउंडर शिवम दुबे, श्रेयस गोपाल, राहुल तेवतिया, रियान पराग और लियाम लिविंगस्टोन के रूप में और भी विकल्प मौजूद हैं।  गोपाल, तेवतिया और पराग लेग स्पिन गेंदबाजी भी कर लेते हैं और ऐसे में यह देखना रोमांचक होगा कि रॉयल्स की टीम दो लेग स्पिनर के साथ उतरती है या नहीं। 

तेवतिया और दुबे में बड़े शॉट खेलकर लोगों को रोमांचित कर सकने की क्षमता रखते हैं।  इनका प्लेइंग 11 में खेलना तय है। चोट के कारण जोफ्रा आर्चर की गैर मौजूदगी में रॉयल्स के तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई क्रिस मौरिस करेंगे जिन्हें टीम ने इसी साल खिलाड़ियों की नीलामी में 16 करोड़ 25 लाख रुपये की भारी भरकम राशि में खरीदा। 

दूसरी तरफ पंजाब के पास राहुल (2020 सत्र में 670 रन), मयंक अग्रवाल (2020 सत्र में 424 रन) और क्रिस गेल जैसे आक्रमाक बल्लेबाज हैं। राहुल और अग्रवाल ने 2020 में मजबूत सलामी जोड़ी बनाई थी और इस जोड़ी के बरकरार रहने की उम्मीद है।  टीम के पास इंग्लैंड के डेविड मलान, तमिलनाडु के एम शाहरूख खान और वेस्टइंडीज के निकोलस पूरण जैसे अच्छे हिटर मौजूद हैं।  टीम को बस अपने संयोजन को सही रखने की जरूरत है।  शाहरूख को दीपक हुड्डा और सरफराज खान जैसे खिलाड़ियों पर तरजीह मिल सकती है और वह टीम में फिनिशर की भूमिका निभा सकते हैं।  टीम के गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई मोहम्मद शमी करेंगे जिन्होंने पिछले सत्र में शानदार प्रदर्शन किया। 

आस्ट्रेलिया के झाय रिचर्डसन और रिली मेरेडिथ के साथ अनुबंध से टीम का तेज गेंदबाजी आक्रमण मजबूत हुआ है।  टीम के पास क्रिस जोर्डन भी हैं। हालांकि यह देखना होगा कि शमी के साथ नई गेंद संभालने का मौका किसे मिलता है।  स्पिन विभाग में टीम के पास मुरुगन अश्विन और रवि बिश्नोई जैसे गेंदबाज हैं।