बेंगलुरु। आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने चार्ली एनिमल रेस्क्यू सेंटर के एक दिन को यादगार बना दिया। दरअसल मूक जानवरों के प्रति अपने प्यार के चलते कोहली इस सेंटर पर पहुंचे थे। उन्होंने यहां ना सिर्फ रेस्क्यू कर बचाए गए जानवरों के साथ समय बिताया, बल्कि 15 स्पेशल कुत्तों को गोद भी लिया। 

केयर की फाउंडर ट्रस्टी सुधा नारायणन ने बताया कि कोहली का यह दौरा सरप्राइज था। उन्होंने कहा, हमें सिर्फ यही पता था कि कोई वीआईपी सेंटर का दौरा करने वाले हैं। हमें बताया नहीं गया था कि वह शख्सियत कौन है। हमसे सेंटर को खाली रखने और स्टाफ को तैयार रखने के लिए कहा गया था। सेंटर से मीडिया से पूरी तरह दूर रखने की हिदायत थी। स्टाफ और ट्रस्टी के सिवा वहां किसी के भी होने की मनाही थी।

फाउंडर ट्रस्टी सुधा कहती हैं कि हममें से किसी को अंदाजा नहीं था कि विराट कोहली यहां आएंगे। उन्होंने बताया, कोहली ने जैसे ही अंदर कदम रखा हमारा प्रॉक्सी रिसेप्शनिस्ट डैश उनपर कूद पड़ा। दरअसर डैश एक विशेष जरूरतों वाला लेब्राडोर है। कोहली जिस तरह से डैश और दूसरे जानवरों के साथ सहज थे वह देखना हमारे लिए बहुत सुखद था। कोहली जितनी जल्दी जानवरों के साथ घुलमिल गए यह देखकर बहुत अच्छा लगा।

सुधा नारायणमूर्ति कहती हैं कि कोहली ने विशेष जरूरतों वाले सभी जानवरों की देखभाल और सेंटर से जुड़े दूसरे कई सवाल किए। इस दौरान मिलने वाले डॉग्स, बिल्लियों पर भी पूरा ध्यान दे रहे थे। मूर्ति कहती हैं, उन्होंने विशेष जरूरतों वाले शेल्टर में रह रहे 50 में से 15 कुत्तों को गोद लेने का भी फैसला किया। इनमें से कुछ डॉगी ब्लाइंड हैं, कुछ के स्पाइन में परेशानी है तो कुछ और को दूसरी तकलीफें हैं।