अपने पहले मैच में अमेरिका को हराने वाली आयरलैंड के खिलाफ खेले जाने वाले महिला हॉकी विश्व कप के दूसरे मैच के लिए भारतीय महिला खिलाड़ी पूरी तरह से तैयार हैं।

रानी की कप्तानी में भारतीय महिला हॉकी टीम आयरलैंड के खिलाफ जीत का खाता खोलना चाहेगी।


पूल-बी में शामिल भारतीय टीम का सामना गुरुवार को आयरलैंड से ली वैली हॉकी एवं टेनिस स्टेडियम में होगा।


महिला हॉकी विश्व कप के पहले मैच में भारतीय टीम का सामना वल्र्ड नम्बर-2 इंग्लैंड से हुआ था और यह मैच 1-1 से ड्रॉ रहा। इस कारण अब रानी की टीम आयरलैंड को हराकर जीत का खाता खोलने के लक्ष्य से मैदान पर उतरेगी।


भले ही मेजबान टीम इंग्लैंड के खिलाफ इस मैच का परिणाम ड्रॉ पर समाप्त हुआ हो, लेकिन रानी टीम के प्रदर्शन से बेहद खुश हैं।


कप्तान रानी ने कहा, 'इंग्लैंड के खिलाफ मैच अच्छा था और इससे हमने अच्छी शुरुआत की। इस मैच के बाद टीम की खिलाडिय़ों और स्टॉफ ने बैठक की, जिसमें हमारे प्रदर्शन के बारे में हमने चर्चा भी की। हमने अमेरिका के खिलाफ आयरलैंड के मैच का वीडियो भी देखा। तीन दिन के आराम के दौरान हमने आपस में कई अभ्यास मैच खेले हैं और अपनी लय को बनाए रखा है।'


विश्व रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज भारतीय टीम को आयरलैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना होगा, क्योंकि इस मैच में हार या इस मैच के ड्रॉ होने के कारण उसके लिए विश्व कप में खिताबी जीत की मुश्किलें बढ़ जाएंगी।


अगर आयरलैंड के खिलाफ मैच ड्रॉ होता है या इसमें हार मिलती है, तो अपनी उम्मीदों को बरकरार रखने के लिए भारतीय टीम को किसी भी हालत में पूल-बी में अमेरिका के खिलाफ खेले जाने वाले मैच में अच्छे स्कोर से जीत हासिल करनी होगी और इंग्लैंड तथा आयरलैंड के मैच के बेहतर परिणाम की उम्मीद भी करनी होगी।


रानी ने कहा, 'वल्र्ड नम्बर-7 अमेरिका को 3-1 से हराकर उलटफेर करने वाली वल्र्ड नम्बर-16 आयरलैंड के खिलाफ हमें अच्छी शुरुआत करनी होगी और उस टीम पर दबाव बनाए रखना होगा। हम आश्वस्त हैं और अपनी अगली चुनौती के लिए भी पूरी तरह से तैयार हैं।'