पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ( Indian cricketer Yuvraj Singh arrested) को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. हालांकि औपचारिक गिरफ्तारी के तुरंत बाद उन्हें अंतरिम जमानत ( Interim bail ) पर छोड़ दिया गया. युवराज सिंह से करीब 3 घंटे पूछताछ भी हुई. 

दरअसल जातिगत टिप्पणी करने को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता रजत कलसन ( social activist Rajat Kalsan)  ने युवराज सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था. हालांकि कलसन ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने युवराज को (Police gave VIP treatment to Yuvraj) वीआईपी ट्रीटमेंट दिया. कलसन अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का रुख करने की बात कर रहे हैं. वह बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर करेंगे.

दरअसल मामला पिछले साल का है, जब युवराज सिंह और भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा इंस्टाग्राम Indian opener Rohit Sharma) पर लाइव आए थे. इंस्टा लाइव के दौरान युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) का जिक्र आने पर युवराज ने जातिसूचक टिप्पणी (Yuvraj made a casteist remark) की थी. इसके बाद युवराज का सोशल मीडिया पर जमकर विरोध हुआ था.

मामला बढ़ता देख युवराज ने (Yuvraj had also apologized) माफी भी मांग ली थी. युवराज ने सोशल मीडिया पर माफी मांगते हुए कहा था कि मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने कभी भी जाति, रंग, वर्ण और लिंग को देखकर किसी भी प्रकार की असमानता में भरोसा नहीं किया है. मैंने अपना जीवन लोगों की भलाई में दिया है और आज भी यह जारी है. मैं बिना किसी अपवाद के हर व्यक्तिगत जिंदगी के गौरव और सम्मान में विश्वास करता हूं.

भारत के लिए 304 वनडे, 58 टी20 और 40 टेस्ट मैच खेल चुके युवी ने रोहित के साथ इंस्टा लाइव पर कही अपनी बात पर सफाई देते हुए कहा था कि जब मैं अपने दोस्त से बात कर रहा था, मेरी बात का गलत मतलब निकाला गया.